इस शेयर में 1.22 लाख रुपये बना 1 करोड़, देखिए कौन सा है शेयर

मुंबई– पिछले साल अप्रैल में कोरोना की दूसरी लहर का जबरदस्त कहर था। लेकिन ईकेआई एनर्जी सर्विसेज ने निवेशकों को मालामाल कर दिया है। पिछले साल इसका आईपीओ आया था। इसकी लिस्टिंग बीएसई एसएमई एक्सचेंज (BSE MSE) में हुई थी।  

लिस्टिंग दिन पर 37 प्रतिशत अधिक प्रीमियम के साथ 140 रुपये के स्तर पर यह खुला था। इस आईपीओ का प्राइस बैंड 100 से 102 प्रति शेयर था। यह शेयर शुक्रवार 8 अप्रैल 2022 को बीएसई पर 2.79% चढ़कर 8,511 रुपये पर बंद हुआ है। यानी इसका मौजूदा शेयर प्राइस 8,511 रुपये है, जो कि इसके 102 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के अपर प्राइस बैंड से लगभग 8244.12 पर्सेंट ज्यादा है। 

इस इश्यू के लिए एक लॉट में 1200 शेयर थे। ऐसे में एक निवेशक को इस आईपीओ में आवेदन करने के लिए 1,22,400 का निवेश करना पड़ा। यदि कोई निवेशक उस समय इसमें पैसा लगाया होता तो वह रकम अब 1.02 करोड़ रुपये हो जाती। 

कंपनी क्लाइमेट चेंज एडवाइजरी, कार्बन क्रेडिट ट्रेडिंग, बिजनेस एक्सीलेंस एडवाइजरी और इलेक्ट्रिकल सेफ्टी ऑडिट में सेवाएं देती है। हालाँकि इसका मुख्य व्यवसाय कार्बन क्रेडिट का व्यापार करना है। भारत का कार्बन मार्केट दुनिया में तेजी से उभरते मार्केट्स में से एक है और यहां लाखों कार्बन क्रेडिट जेनरेट हो चुके हैं।  

ईकेआई एनर्जी का शेयर जब लिस्ट हुआ था, तो उस वक्त इस शेयर का मार्केट कैप 18 करोड़ रुपये था। यह मार्केट कैप अब बढ़कर 5093 करोड़ रुपये हो गया है। यह कंपनी मार्च, 2021 तक पूरी तरह से कर्ज मुक्त कंपनी है। वहीं कंपनी में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 73.5 फीसदी है। इसके अलावा प्रमोटर्स ने अपना कोई भी शेयर गिरवी रखा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.