भारतीय बाजार में वापस लौटे विदेशी निवेशक, कर रहे हैं खरीदारी

मुंबई – विदेशी निवेशकों ने फिर से भारतीय बाजार में खरीदारी शुरू कर दी है। इससे पहले उन्होंने लगातार छह महीने बिकवाली की है। अप्रैल में वे अब तक 7,707 करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं। दरअसल, बाजार में आई गिरावट का इस्तेमाल उन्होंने खरीदारी के लिए किया है। 

हालांकि, इसे विदेशी निवेशक के रुख में बदलाव मानना जल्दबाजी होगी। यह भी हो सकता है कि मौजूदा स्थितियों को देखते हुए विदेशी निवेशक अपने पोर्टफोलियो में बदलाव कर रहे हों। दरअसल, शेयर बाजार में आई हालिया गिरावट से निवेश के मौके बने हैं। विदेशी निवेशकों ने इस मौके का इस्तेमाल करने के बारे में सोचा होगा।  

पिछले छह महीने में विदेशी निवेशकों ने भारतीय बाजार में खूब बिकवाली की है। पिछले साल अक्टूबर से इस साल मार्च के दौरान उन्होंने 1.48 लाख करोड़ रुपये की बिकवाली की है। इसका बड़ा कारण अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने का अनुमान था। यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद से जियोपॉलिटिकल स्थितियों में बड़ा बदलाव आया है। 

विदेशी निवेशकों ने डेट मार्केट में भी निवेश किया है। अप्रैल में डेट मार्केट में उनका निवेश 1,403 करोड़ रुपये है। इससे पहले उन्होंने फरवरी और मार्च में डेट मार्केट में 8,705 करोड़ रुपये की बिकवाली की थी। कोटक सिक्योरिटीज में हेड (इक्विटी रिसर्च-रिटेल) श्रीकांत चौहान ने कहा कि आने वाले समय में एफपीआई फ्लो में उतार-चढ़ाव बने रहने की उम्मीद है। इसकी वजह अनिश्चित माहौल है। क्रूड ऑयल के प्राइस बहुत ज्यादा हैं। 

एफपीआई ने वित्त वर्ष 2021-22 में स्टॉक मार्केट में 1.4 लाख करोड़ रुपये की बिकवाली की है। इसके बावजूद इस दौरान निफ्टी 19 फीसदी चढ़ा है। इसकी वजह घरेलू निवेशकों और रिटेल निवेशकों की खरीदारी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.