अडाणी ग्रुप की कंपनियों का मार्केट कैप 200 अरब डॉलर के पार हुआ   

मुंबई- अडानी ग्रुप की कंपनियों ने इस साल भी अपने निवेशकों को अब तक छप्पर फाड़ रिटर्न दिया है। अडानी ग्रुप की कुल 7 कंपनियां शेयर बाजार में लिस्ट हैं, जिनकी कुल मार्केट वैल्यू गुरुवार 7 अप्रैल को 200 अरब डॉलर के पार चली गई। इनमें से दो कंपनियों के शेयरों ने इस साल अब तक 150 फीसदी से अधिक का मल्टीबैगर रिटर्न दिया है।  

वहीं तीन कंपनियों के शेयर 50 फीसदी से अधिक चढ़ चुके है। कुल मिलाकर, अडानी ग्रुप की सातों कंपनियों ने इस साल अपने निवेशकों को अब तक 78 फीसदी से अधिक का औसत रिटर्न दिया है। अडानी पावर के शेयर 1 जनवरी 2022 को 101.30 रुपये पैसे पर कारोबार कर रह थे, जो गुरुवार 7 अप्रैल को दिन के कारोबार के दौरान बढ़कर 256.95 पैसे पर पहुंच गए। इस तरह साल 2022 में इसने अपने निवेशकों को अब तक 157% का रिटर्न दिया है। अडानी पावर का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन गुरुवार को 99,007.62 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया। 

अडानी ग्रीन एनर्जी के एक शेयर की कीमत 1 जनवरी 2022 को 1,346.90 रुपये थी, जो गुरुवार 7 अप्रैल को दिन के कारोबार के दौरान 2,275 रुपये के स्तर पर पहुंच गया। इस तरह इस साल अभी तक यह शेयर 67% फीसदी से अधिक चढ़ गया है। वहीं इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 3,50,339 करोड़ रुपये के स्तर को छू गया है। 

अडानी टोटल गैस के एक शेयर की कीमत 1 जनवरी 2022 को 1,743.80 रुपये था, जो गुरुवार 7 अप्रैल को दिन के कारोबार के दौरान करीब 2,600 रुपये के स्तर तक पहुंच गया है। इस तरह अडानी टोटल के शेयर ने अपने निवेशकों को इस साल अब तक करीब 50 फीसदी का रिटर्न दिया है। अडानी टोटल गैस का मार्केट कैपिटलाइजेशन दिन के कारोबार के दौरान 2,83,311 करोड़ रुपये पहुंच गया था। 

अडानी ग्रुप की सभी कंपनियों में इस साल सबसे कमजोर प्रदर्शन अडानी पोर्ट्स के शेयर का रहा है। साल 2022 में अभी तक अडानी पोर्ट्स का शेयर सिर्फ 17.41 फीसदी बढ़ा है। 1 जनवरी 2022 को कंपनी के शेयरों की कीमत 736.60 रुपये थी, जो गुरुवार 7 अप्रैल को दिन के कारोबार के दौरान 865 रुपये के स्तर तक चले गए थे। अडानी पोर्ट्स का मार्केट कैप गुरुवार को 1,80,660 करोड़ रुपये पहुंच गया था। 

अडानी ट्रांसमिशन के एक शेयर की कीमत 1 जनवरी 2022 को 1,731.10 रुपये थी और तब से यह करीब 51 फीसदी बढ़ चुका है। गुरुवार 7 अप्रैल को दिन के कारोबार के दौरान अडानी ट्रांसमिशन के शेयरों की कीमत 2,640 रुपये तक पहुंच गई और इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 2,81,666 करोड़ रुपये पहुंच गया था। 

अडानी विल्मर के शेयर साल 2022 का एक महीना बीतने के बाद फरवरी में बाजार में लिस्ट हुए। हालांकि इसके बावजूद अडानी ग्रुप की सभी कंपनियों में सबसे ज्यादा रिटर्न इसी ने दिया है। अडानी विल्मर का आईपीओ बीते 8 फरवरी 2022 को 227 रुपये के स्तर पर लिस्ट हुआ था और तब से इसका शेयर अब तक करीब 180% चढ़ चुका है।  

गुरुवार 7 अप्रैल को दिन के कारोबार के दौरान अडानी विल्मर के शेयर 639 रुपये पर पहुंच गए थे और इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 83,133.94 करोड़ रुपये पहुंच गया था। अडानी एंटरप्राइजेज के एक शेयर की कीमत 1 जनवरी 2022 को 1,717.15 रुपये थी, जो गुरुवार 7 अप्रैल को दिन के कारोबार के दौरान 2,200 रुपये के स्तर पर पहुंच गया। इस तरह अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर ने अपने निवेशकों को इस साल अब तक 28 फीसदी का रिटर्न दिया है।  

अडानी एंटरप्राइजेज का मार्केट कैपिटलाइजेशन गुरुवार को 2,38,422 करोड़ रुपये पहुंच गया। अडानी ग्रुप की सभी सातों कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन गुरुवार को दिन के कारोबार के दौरान 15,16,541.75 करोड़ रुपये या 200 अरब डॉलर पहुंच गया। अडानी ग्रुप, रिलायंस और टाटा ग्रुप के बाद देश का तीसरा ऐसा कारोबारी समूह है, जिसकी मार्केट कैपिटलाइजेशन 200 अरब डॉलर से ज्यादा है। 

ग्रुप की सात लिस्टेड कंपनियों में से पांच के शेयरों के गुरुवार को ऑल टाइम हाई पर पहुंचने से उसने यह मुकाम हासिल किया है। टाटा ग्रुप की मौजूदा मार्केट कैप 320 अरब डॉलर है, जबकि मुकेश अंबानी की अगुआई वाले रिलायंस ग्रुप की मौजूदा मार्केट प्राइस पर वैल्यू 237 अरब डॉलर है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.