रामदेव को झटका, रुचि सोया के एफपीओ से 97 लाख निवेशक हटे 

मुंबई- मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) की तरफ से निवेशकों को निकासी का विकल्प दिए जाने के बाद रुचि सोया इंडस्ट्रीज के फॉलो-ऑन ऑफर (FPO) से करीब 97 लाख निवेशकों ने बोली वापस ली है। हालांकि, कंपनी का फॉलो-ऑन ऑफर (FPO) पूरा हो गया है। 

रुचि सोया ने कर्ज मुक्त कंपनी बनने और सेबी के शेयरहोल्डिंग नियमों को पूरा करने के उद्देश्य से बीते 24 मार्च को 4,300 करोड़ रुपये का फॉलो-ऑन ऑफर (FPO) लॉन्च किया था। रुचि सोया ने अपने FPO का फाइनल इश्यू प्राइस 650 रुपये तय किया है, जो इश्यू का ऊपरी प्राइस बैंड था। 

कंपनी पहले ही एंकर निवेशकों से 650 रुपये के ऊपरी प्राइस बैंड पर 1.98 करोड़ शेयर जारी कर 1,290 करोड़ रुपये जुटा चुकी है। इस बीच रुचि सोया के शेयर गुरुवार को BSE पर 2.23 फीसदी गिरकर 955.60 रुपये पर बंद हुआ। 

SEBI ने सोमवार को रुचि सोया के बैंकरों को FPO के दौरान शेयरों की बिक्री के बारे में कुछ अवांछित SMS के प्रसार को लेकर सतर्क करते हुए निवेशकों को अपनी बोलियां वापस लेने का विकल्प देने को कहा था। 30 मार्च को FPO का सब्सक्रिप्शन 3.6 गुना से घटकर 3.39 गुना हो गया, जो 28 मार्च को ऑफर बंद होने का स्तर था। इससे पता चलता है कि करीब 97 लाख बोलियां वापस ले ली गईं।  

उन्होंने बताया कि मुख्य रूप से विदेशी निवेशकों ने बोलियां वापस लीं। इससे पहले कंपनी ने SEBI और शेयर बाजारों को बताया था कि FPO में निवेश की संभावनाओं के बारे में सोशल मीडिया पर उसे कुछ संदेश देखने को मिले हैं। इसमें कंपनी के शेयर बाजार कीमत से कम दाम पर मिलने का जिक्र है। 

कंपनी ने दावा किया कि यह SMS न तो उसकी तरफ से और न ही उसके डायरेक्टर्स, प्रमोटरों या ग्रुप कंपनियों की तरफ से जारी किया गया है। इस बारे में कंपनी ने जांच की मांग करते हुए हरिद्वार में FIR भी दर्ज कराई है। रामदेव का सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हो रहा है। इसमें पत्रकार द्वारा पेट्रोल की कीमतों को बढ़ाए जाने पर जब सवाल पूछा गया तो रामदेव गुस्सा हो गए। बोले तू आगे से सवाल मत पूछना, मुझे जो बोलना है बोलूंगा या नहीं। मै कोई ठेका नहीं लिया हूं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.