छोटी बचत योजनाओं पर मिलती रहेगी अभी की ब्याज दर, कोई बदलाव नहीं 

मुंबई- सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर अभी की ब्याज दर बनाए रखने की घोषणा की है। यानी जो ब्याज दर आपको जनवरी से मार्च के दौरान मिला है, वही अप्रैल से जून के दौरान भी मिलेगा। हालांकि सरकार ने पीएफ पर ब्याज दर पहले ही घटाकर ग्राहकों को झटका दिया है जबकि महंगाई भी चरम पर है।  

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF), सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC), किसान विकास पत्र (KVP) और सुकन्या समृद्धि योजना समेत पोस्ट ऑफिस छोटी बचत योजना के दायरे में आती हैं। सुकन्या समृद्धि योजना पर पर निवेशकों को 7.60% का ब्याज मिलता रहेगा।  

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) पर 6.8% का ब्याज मिलेगा। पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी PPF पर 7.1% का ब्याज मिलेगा। किसान विकास पत्र में निवेश करने पर 6.9% का ब्याज दिया जाएगा। वरिष्ठ नागरिकों को 7.4% का ब्याज मिलेगा। सरकार ने पिछले साल 1 अप्रैल 2020 को ही छोटी बचत योजनाओं पर मिलने वाले ब्याज में कटौती की थी। तब इनकी ब्याज दरों में 1.40% तक की कटौती की गई थी।  

सरकार के लिए छोटी बचत योजनाएं पैसा जुटाने का आसान तरीका हैं। वित्त वर्ष 2020-21 में छोटी बचत योजनाओं के जरिए 3.91 लाख करोड़ रुपए जुटाए है। वित्तीय घाटे की भरपाई के लिए सरकार छोटी बचत योजनाओं से ही उधार लेती है। छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों की हर तिमाही समीक्षा होती है। इन योजनाओं की ब्याज दरें तय करने का फॉर्मूला 2016 श्यामला गोपीनाथ समिति ने दिया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.