रुचि सोया पर सेबी की नकेल, अब 31 मार्च को होगी बोर्ड की बैठक 

मुंबई- रुचि सोया इंडस्ट्रीज ने अपने फॉलो-ऑन ऑफर (FPO) के फाइनल इश्यू प्राइस को तय करने के लिए होनी वाली बोर्ड मीटिंग को 31 मार्च तक के लिए टाल दिया है। पहले यह मीटिंग 29 मार्च को होने वाली थी। 

दरअसल मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) ने सोमवार 28 मार्च को एक अप्रत्याशित कदम उठाते हुए रुचि सोया के 4,300 करोड़ रुपये के FPO में निवेश करने वाले निवेशकों को अपनी बोली वापस लेने विकल्प दिया है। निवेशक अगर चाहें तो वह 30 मार्च तक अपनी बोली वापस ले सकते हैं। 

इसी के चलते रुचि सोया ने अब अपनी बोर्ड मीटिंग 31 मार्च को करने का फैसला किया है, जिसमें यह तय किया जाएगा निवेशकों को शेयर कितने रूपये पर जारी किया जाएगा। मार्केट रेगुलेटर सेबी ने पाया कि पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के यूजर्स को इस इश्यू में निवेश करने के लिए कुछ अवांछित मैसेज भेजे गए हैं। इसी के बाद मार्केट रेगुलेटर ने निवेशकों को बोली वापस लेने का यह दुर्लभ मौका दिया है।  

साथ ही सेबी ने इस मामले में प्रमुख बैंकिंग मैनेजरों को निर्देश दिया है कि वे सभी निवेशकों को ऐसे अवांछित SMS को लेकर आगाह करते हुए मंगलवार और बुधवार को समाचार पत्रों में विज्ञापन दें। इससे पहले रुचि सोया का FPO को अपने आखिरी दिन तक 3.6 गुना सब्सक्राइब हुआ। FPO के लिए बोली लगाने की आखिरी तारीख 28 मार्च थी।  

रिटेल निवेशकों के हिस्से में कंपनी को 88 फीसदी बोली मिली। वहीं क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशन इनवेस्टर्स (QIB) का हिस्सा 2.2 गुना भरा। कंपनी को सबसे अधिक 11.75 गुना अधिक बोली नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स (NII) के कोटे में मिली। 

रुचि सोया ने पिछले हफ्ते कंपनी को पूरी तरह के कर्ज मुक्त बनाने और सेबी के शेयरहोल्डिंग नियमों को पूरा करने के लिए 4,300 करोड़ रुपये का FPO लॉन्च किया था।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.