आदित्य पुरी ने की पेटीएम की खिंचाई, कहा कैशबैक से बनाया ग्राहक 

मुंबई- दिग्गज बैंकर आदित्य पुरी ने मंगलवार को फिनेटक कंपनी पेटीएम के बिजनेस मॉडल पर सवाल उठाया। आदित्य पुरी ने कहा कि कंपनी ने “कैशबैक” देकर अपने ग्राहक जुटाए है, न कि वित्तीय सेवाओं के जरिए। 

आदित्य पुरी, प्राइवेट सेक्टर के बैंक HDFC बैंक के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर हैं और इस समय कार्लाइल ग्रुप के सीनियर एडवाइजर हैं। आदित्य पुरी ने 1994 में HDFC बैंक की जिम्मेदारी संभाली थी और 2020 में रिटायर होने के समय तक उन्होंने इसे देश के सबसे बड़े बैंकों में एक बना दिया। 

आदित्य पुरी ने पेटीएम के बिजनेस मॉडल पर सवाल उठाया और यह सोचकर हैरानी जताई कि अगर कंपनी इतने पेमेंट्स का प्रबंधन करती है तो आखिर उसका मुनाफा कहां है? पुरी का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब पेटीएम के शेयरों में भारी गिरावट जारी है।  

पेटीएम के शेयर अपने आईपीओ इश्यू प्राइस से इस समय करीब 75 फीसदी कम कारोबार कर रहे हैं। मंगलवार को पेटीएम के शेयर NSE पर करीब 2 फीसदी गिरकर 524.50 रुपपे पर बंद हुए। आदित्य पुरी ने मुंबई यूनिवर्सिटी में आयोजित आईएमसी चैंबर ऑफ कॉमर्स के कार्यक्रम में कहा कि पेटीएम इतना भुगतान करती है लेकिन मुनाफा कब कमाएगी? 

पुरी ने कहा कि एक बैंक के उलट पेटीएम ने कैशबैक देकर अपने लाखों ग्राहकों को जोड़ा है, जबकि एक बैंक अपनी सेवाओं की पेशकश के लिए शुल्क लेता है और लाभ कमाता है। पेटीएम में निवेशकों ने अपने पैसे गंवा दिए हैं और उसका शेयर हर दिन गिर रहा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.