रूस के राष्ट्रपति पुतिन को खतरा, 1000 स्टॉफ को हटाया

मुंबई- रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने पर्सनल स्टाफ के करीब 1000 कर्मचारियों को बदल दिया है। ऐसा इसलिए किया गया है, क्योंकि पुतिन को डर था कि कहीं ये लोग उन्हें जहर न दे दें।  

एक रिपोर्ट में रूसी सरकार के एक सूत्र के हवाले से बताया गया है कि नौकरी से हटाए गए लोगों में बॉडीगार्ड्स, कुक, कपड़े धोने वाला और सचिव शामिल हैं। हालांकि, रिपोर्टों में इस बात का जिक्र नहीं है कि पुतिन ने ऐसा यूक्रेन पर हमला करने से पहले किया था या बाद में। 

रूस द्वारा यूक्रेन पर हमले की दुनियाभर के कई देशों ने रूस की कड़ी आलोचना की है। इसके अलावा, पुतिन और उनके सहयोगियों पर दुनियाभर में कठोर पाबंदी लगाई है। इसके साथ ही रूस पर भी पाबंदियों की बौछार की गई है। अमेरिका के साउथ कैरोलिना के सांसद लिंडसे ग्राहम भी रूस के राष्ट्रपति की हत्या किए जाने की बात कह चुके हैं।  

ग्राहम ने इस महीने की शुरुआत में पुतिन की तुलना तानाशाह एडोल्फ हिटलर से की थी। उन्होंने कहा था कि युद्ध को खत्म करने का एकमात्र तरीका ये है कि कोई पुतिन की हत्या कर दे। लिंडसे ग्राहम ने डेली बीस्ट से बातचीत में कहा था कि पुतिन को जहर देने या दिलवाने का काम किसी विदेशी सरकार द्वारा नहीं किया जाएगा। क्रेमलिन यानी रूसी राष्ट्रपति कार्यालय के भीतर से इसका प्रयास होगा। 

डेली मेल ने यूक्रेनी खुफिया रिपोर्ट्स के हवाले से बताया है कि पुतिन को जहर दिए जाना एकदम से निराधार नहीं है, क्योंकि मॉस्को के एलिट अधिकारी पुतिन को ‘जहर’ देने और इसे एक दुर्घटना के रूप में बताने की साजिश रच रहे हैं। डेली मेल की रिपोर्ट में बताया गया है कि रूस में प्रभावशाली लोगों के एक ग्रुप ने कथित तौर पर पुतिन को राष्ट्रपति पद से हटाने की योजना बनाना शुरू कर दिया है और यहां तक कि एक उत्तराधिकारी को भी लाइन में खड़ा कर दिया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.