ICICI प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड की नई स्कीम, 11 अप्रैल तक कर सकते हैं निवेश  

मुंबई- देश की लीडिंग म्यूचुअल फंड कंपनी ICICI प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड ने नया फंड ऑफर (NFO) लॉन्च किया है। इस एक स्कीम के जरिए आप हाउसिंग सेक्टर के सभी सेगमेंट में निवेश कर सकते हैं। यह NFO 28 मार्च से खुलेगा और 11 अप्रैल को बंद होगा।  

यह स्कीम रियल एस्टेट डेलवपर्स, फाइनेंशियल सर्विसेस, सीमेंट और सीमेंट के प्रोडक्ट, कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, पेंट्स, स्टील, होम अप्लायंसेस और सैनिटी वेयर जैसे प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनियों के शेयर्स में निवेश करेगी। यह स्कीम उन निवेशकों के लिए सही है जो हाउसिंग थीम की संभावित ग्रोथ में भागीदार बनना चाहते हैं। जाने माने फंड मैनेजर एस नरेन और आनंद शर्मा इसके फंड मैनेजर होंगे।  

इस स्कीम में कम से कम 5,000 रुपए का निवेश कर सकते हैं। यह एक ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम है जो हाउसिंग की थीम का पालन करेगी। इसका उद्देश्य इक्विटी और इक्विटी से संबंधित कंपनियों के साधनों में निवेश करने का है, जो हाउसिंग की ग्रोथ से फायदा पाने वाली हैं। यह स्कीम निफ्टी हाउसिंग इंडेक्स का हिस्सा होगी।

हाउसिंग एक थीम के रूप में कई सेगमेंट में फैला हुआ सेक्टर है। इसमें सीमेंट, कंज्यूमर, इलेक्ट्रॉनिक्स, हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां, बैंक, स्टील, LPG/CNG/ PNG/ LNG सप्लायर आदि हैं। एक थीम के रूप में हाउसिंग रियल एस्टेट के रूप में देखा जाता है। 2025 तक ऐसी उम्मीद है कि शहरी एरिया में कुल 52.5 करोड़ भारतीय रहेंगे। 

अनुमान के मुताबिक, 2030 तक शहरी एरिया में रहने वाले भारतीयों की संख्या बढ़कर 60 करोड़ हो जाएगी। भारत में रियल एस्टेट सेक्टर के 2030 तक एक लाख करोड़ डॉलर यानी 76 लाख करोड़ रुपए के होने की उम्मीद है। इससे यह संकेत मिलता है कि इस सेक्टर की अच्छी ग्रोथ होगी।  

लॉकडाउन के बाद देश के टॉप 7 शहरों में हाउसिंग की बिक्री का वोल्यूम सालाना आधार पर 113% बढ़ा है। आगे चलकर आवासीय सेक्टर को प्रधानमंत्री आवास योजना स्कीम के तहत तेज गति मिलने की उम्मीद है। इस बारे में कंपनी के प्रोडक्ट हेड चिंतन हरिया ने कहा कि हमारा मानना है कि हाउसिंग एक थीम के रूप में मजबूत साइकल है। 

उनके मुताबिक, मध्यम क्लास की बढ़ती आबादी, बढ़ते शहरीकरण, होम लोन की कम ब्याज दरें हाउसिंग और इससे संबंधित थीम के लिए अच्छा काम कर रही हैं। हालांकि सरकार भी लगातार इस सेक्टर पर फोकस कर रही है। इसमें अफोर्डेबल हाउसिंग, अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स स्कीम, निवेश में बढ़त, स्टैंप ड्यूटी में कटौती, टाउनशिप के लिए 100% FDI आदि भी मदद कर रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.