ओमैक्स ग्रुप पर IT का छापा, 3 हजार करोड़ रुपए के लेन-देन का पता चला   

मुंबई- इनकम टैक्स विभाग ने रियल्टी कंपनी ओमैक्स ग्रुप पर छापा मारा है। इसमें 3 हजार करोड़ रुपए के अनअकाउंटेड कैश लेन-देन का पता चला है।  

CBDT के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि ओमैक्स पर यह छापा उसके उत्तरी भारत के ठिकानों पर 14 मार्च को मारा गया था। इसके मुताबिक, सर्च ऑपरेशन 45 से ज्यादा परिसरों पर चलाया गया, जो दिल्ली,NCR, चंडीगढ़, लुधियाना, लखनऊ और इंदौर में स्थित हैं।  

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (CBDT)  मूलरूप से टैक्स विभाग के पॉलिसी बनाने का काम करता है। हालांकि, ओमैक्स ग्रुप ने इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया। CBDT के मुताबिक, 25 करोड़ रुपए नकदी और 6 करोड़ रुपए के गहने के साथ 11 लॉकर को भी सीज किया गया है। सर्च के दौरान डॉक्यूमेंट और डिजिटल आंकड़ों को भी बरामद किया गया है।  

बरामद किए गए सबूत पैसों के लेन-देन से संबंधित हैं जो अनअकाउंटेड हैं। यानी ये नकदी में लेन-देन किए गए हैँ। पिछले 10 सालों का इसमें हिसाब-किताब है जो तमाम ग्राहकों के साथ किया गया है। ओमैक्स के तमाम प्रोजेक्ट और बिजनेस हेड के साथ कर्मचारियों ने मिलकर इस मोडस ऑपरेंडी को चलाया।  

इन लोगों ने बताया कि कंपनी ने कैश लेकर अनअकाउंटेड पैसा जमा करने का काम किया। इस तरह के ग्राहकों का कोई हिसाब अकाउंट के रेगुलर बुक्स में नहीं होता है। इसी के साथ यह भी कहा गया है कि ग्रुप ने 450 करोड़ रुपए के कैश लोन को भी प्राप्त किया है और यह खास निवेशकों की ओर से दिखाया गया है। ओमैक्स दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) की लीडिंग रियल्टी कंपनी है। इसकी मौजूदगी पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में भी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.