8 दिनों में सेंसेक्स 5 हजार अंक से ज्यादा बढ़ा, निवेशकों ने अच्छी कमाई की 

मुंबई- बीएसई सेंसेक्स 8 कारोबारी सत्र में 5,000 अंक से ज्यादा चढ़ चुका है। इससे स्टॉक मार्केट में रौनक लौट आई है। लंबे अरसे बाद गुरुवार को विदेशी संस्थागत निवेशकों के रुख में बदलाव दिखा। उन्होंने बाजार से खरीदारी की।  

शेयर बाजार का सेंटिमेंट कई वजहों से बेहतर हुआ है। रूस-यूक्रेन संकट खत्म करने के लिए कोशिशें जारी हैं। कच्चे तेल की कीमतें 100 डॉलर से नीचे आ गई हैं। अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने उम्मीद के मुताबिक ब्याज दर में एक चौथाई की कटौती की है।  

7 मार्च को सेंसेक्स 7 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गया था। यह अपने रिकॉर्ड हाई लेवल से 16 फीसदी टूट गया था। 15 मार्च को छोड़ दें तो पिछले 8 कारोबी सत्रों में सेंसेक्स 5000 अंक से ज्यादा चढ़ा है। निफ्टी 50 में इस दौरान 1400 अंक से ज्यादा की तेजी आई है। 11 फरवरी के बाद से विदेशी निवेशकों ने पहली बार खरीदारी की है। 

गुरुवार को निफ्टी 50 में 311 अंक यानी 1.84 फीसदी की तेजी आई। कारोबार के अंत में यह 17,287 अंक पर रहा। सेंसेक्स 1,047 अंक यानी 1.84 फीसदी के उछाल के साथ 57,863 अंक पर बंद हुआ। बाजार में उछाल की वजह शॉर्ट-कवरिंग रही। दूसरे एशियाई बाजारों से भी भारतीय बाजार को सपोर्ट मिला। 

एशियाई बाजार में करीब 7 फीसदी की सबसे ज्यादा तेजी हांगकांग स्टॉक एक्सचेंज में आई। जापान का निक्केई 3.5 फीसदी चढ़ा। चीन के शंघाई कंपोजिट में भी 1 फीसदी से ज्यादा मजबूती आई। इन बाजारों पर बुधवार को अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंजों में आई तेजी का असर दिखा।  

बुधवार को नैस्डेक कंपोजिट 3.8 फीसदी चढ़ा। एसएंडपी 500 भी 2.22 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ। डाओ जोंस 1.5 फीसदी उछला। लंबे समय बाद विदेशी निवेशकों ने बाजार में खरीदारी की। क्रूड में नरमी से भी बाजार को सपोर्ट मिला। 

पिछले 8 सत्रों में आई तेजी से निवेशकों की वेल्थ 19 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा बढ़ी है।  

7 मार्च को बीएसई का मार्केट कैपिटलाइजेशन 241 करोड़ रुपए था। 17 मार्च को यह बढ़कर 260 लाख करोड़ रुपए हो गया। सिर्फ गुरुवार को ही निवेशकों की संपत्ति 4 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा बढ़ गई। 

गुरुवार को मेटल को छोड़ सभी दूसरे सेक्टर में तेजी देखने को मिली। 8 मार्च के बाद से बैंक, ऑटो, एफएमसीजी, आईटी, रियल्टी में सबसे ज्यादा तेजी देखने को मिली है। विदेशी निवेशकों ने बुधवार को 312 करोड़ रुपए मूल्य के शेयर खरीदे। हालांकि, मार्च में अब भी उन्होंने शुद्ध रूप से 44,417 करोड़ रुपए की बिकवाली की है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.