जेट एयरवेज फिर से उड़ान भरने को तैयार, कुछ मंजूरियों का इंतजार 

मुंबई- जेट एयरवेज 2.0 उड़ान भरने को तैयार है। बस कुछ मंजूरी का इंतजार किया जा रहा है। एयरलाइन के नए प्रमोटर जालान-कालरॉक कंसोर्टियम ने कहा कि फिर से शुरू करने का काम अच्छी तरह से आगे बढ़ रहा है।  

एयरलाइन की सेवाएं जल्द ही फिर से शुरू होने की उम्मीद है। जेट टीम ने कहा, “हम अप्रूवल प्रोसेस के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय, भारत सरकार और नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। जेट एयरवेज के एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट (AOC) वैलिडेशन के बाद सर्विसेज शुरू की जाएंगी। 

पिछले साल सितंबर में, जालान-कालरॉक रिजॉल्यूशन कंसोर्टियम ने कहा था कि एयरलाइन 2022 की तीसरी-चौथी तिमाही से छोटी-छोटी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करेगी। अगले तीन से पांच सालों में जेट एयरवेज के बेड़े में विमानों को शामिल किए जाने के लिए कई एयरक्राफ्ट लेसर्स के साथ-साथ एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चर्रस के साथ बातचीत चल रही है। 

कर्ज में दबे होने के कारण जेट एयरवेज अप्रैल 2019 में बंद हो गई थी। जालान एक दुबई बेस्ड इंडियन ओरिजिन बिजनेसमैन हैं। 1990 के दशक की शुरुआत में टिकटिंग एजेंट से एंटरप्रेन्योर बने नरेश गोयल ने जेट एयरवेज की शुरूआत की थी।  

एक वक्त जेट के पास 120 प्लेन थे। हर रोज 650 फ्लाइट्स ऑपरेट करती थी। मार्च 2019 तक घाटा 5,535.75 करोड़ रुपए तक पहुंच गया। भारी कर्ज के चलते 17 अप्रैल 2019 को एयरलाइन बंद हो गई। जब कंपनी बंद हुई तो केवल 16 प्लेन रह गए थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.