BSE के निवेशकों की संख्या 10 करोड़ के पार, महाराष्ट्र टॉप पर 

मुंबई- बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर रजिस्टर्ड निवेशकों की संख्या 10 करोड़ को पार कर गई है। पिछले 91 दिनों में एक करोड़ निवेशक बढ़े हैं। BSE ने साल 2008 में पहली बार एक करोड़ निवेशकों का आंकड़ा पार किया था। सोशल मीडिया पर BSE के MD आशीष चौहान ने इसकी जानकारी दी।

आंकड़ों के मुताबिक 14 सालों में इसके निवेशकों की संख्या 10 गुना बढ़ी है। 2008 में एक करोड़ से बढ़कर 2022 में इनकी संख्या 10.08 करोड़ हो गई है। मणिपुर, मध्यप्रदेश, लक्ष्यद्वीप, ओड़ीसा, असम और अरुणांचल प्रदेश में सबसे ज्यादा इन्वेस्टर्स बढ़े। यहां पर 100 से 300% की बढ़त देखी गई।

BSE के आंकड़ों के मुताबिक, 15 दिसंबर को इसके कुल रजिस्टर्ड निवेशकों की संख्या 9 करोड़ थी जो 16 मार्च को 10 करोड़ के पार हो गई। उससे पहले 85 दिनों में एक करोड़ निवेशक बढ़े थे जो 8 से 9 करोड़ हुए थे। पिछले दो सालों में इन्वेस्टर्स की संख्या में जबरदस्त तेजी आई है।

असम में निवेशकों की संख्या 286% जबकि सालाना आधार पर पूरे देश में इनकी संख्या 58% बढ़ी है। सबसे ज्यादा निवेशक महाराष्ट्र में हैं जिनकी संख्या 2.06 करोड़ है जो कुल निवेशकों का करीबन 21% है। गुजरात 1.01 करोड़ के साथ दूसरे नंबर पर है। इसका हिस्सा 11% है। मध्यप्रदेश में निवेशकों की संख्या एक साल में 109% बढ़ी, जबकि छत्तीसगढ़ में 77% और बिहार में 116% बढ़ी। राजस्थान में 84.8% और उत्तर प्रदेश में 84% निवेशक बढ़े।

मध्यप्रदेश में कुल 46 लाख निवेशक हैं। पंजाब में 22 लाख, हरियाणा में 31.9, दिल्ली में 48.66, राजस्थान में 56.30, उत्तर प्रदेश में 85.43, छत्तीसगढ़ में 9.1 लाख, बिहार में 30.61 लाख और झारखंड में 15.41 लाख निवेशक हैं। फरवरी की तुलना में कुल निवेशक 31.82 लाख बढ़े जबकि सितंबर तिमाही की तुलना में दिसंबर तिमाही में 98.8 लाख निवेशक बढ़े हैं।

नए निवेशकों के साथ डीमैट अकाउंट भी तेजी से बढ़ा है। पिछले तीन सालों में इनकी संख्या दोगुना हो गई है। BSE में कुल करीबन 5 हजार कंपनियां लिस्टेड हैं। हालांकि पिछले साल लिस्ट हुईं ज्यादातर नई उम्र की कंपनियों में निवेशकों को जमकर घाटा हुआ। इनके मार्केट कैप में 68% तक की गिरावट आई है। इसमें नायका, जोमैटो, पॉलिसीबाजार, पेटीएम जैसी कंपनियां शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.