उत्तर प्रदेश में तीन उपमुख्यमंत्री हो सकते हैं, अपर्णा यादव का लग सकता है नंबर 

मुंबई- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार और सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के साथ ही पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के नेताओं से मुलाकात की। खबर है कि इस बार तीन उपमुख्यमंत्री बन सकते हैं। इसमें अपर्णा यादव को भी जगह मिल सकती हैं। अपर्णा को MLC बनाकर मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। 

कहा जा रहा है कि दिनेश शर्मा के चुनाव न लड़ने और केशव प्रसाद मौर्य के चुनाव हारने के बाद उपमुख्यमंत्री के दोनों पद पर नए चेहरे सामने होंगे। एक चेहरा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह का तो दूसरा बेबी रानी मौर्य का हो सकता है। जातीय संतुलन के लिए दिनेश शर्मा की जगह किसी दूसरे ब्राह्मण चेहरे को मौका देने की बात भी सामने आ रही है। 

योगी कैबिनेट में करीब 15 पुराने मंत्रियों को जगह मिलना तय बताया जा रहा है। इनमें सबसे अहम नाम केशव प्रसाद मौर्य का नाम है। उन्हें चुनाव हारने के बाद भी मंत्रिमंडल में लिया जा सकता है। इसके अलावा, सुरेश खन्ना, श्रीकांत शर्मा, बृजेश पाठक, सतीश महाना, भूपेंद्र चौधरी, जय प्रताप सिंह और अनिल राजभर के नाम भी मंत्री पद के दावेदारों में शामिल हैं। 

2024 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए इस बार मंत्रिमंडल में जातीय के साथ क्षेत्रीय संतुलन भी साधा जाएगा। नई सरकार में शामिल होने वाले संभावित नामों में हरदोई के नितिन अग्रवाल, कायमगंज से विधायक डॉ. सुरभि, प्रयागराज की बारा सीट से विधायक वाचस्पति, इटावा से सरिता भदौरिया, मैनपुरी से जय वीर सिंह, मऊ से रामविलास चौहान, देवबंद से जीत दर्ज करने वाले कुंवर ब्रजेश शामिल हैं। 

इसके साथ ही पुलिस की नौकरी छोड़कर विधायक बने असीम अरुण तथा राजेश्वर सिंह में से किसी एक का मंत्री बनना तय माना जा रहा है। रिकार्ड मतों से जीतने वाले गाजियाबाद के साहिबाबाद से विधायक सुनील शर्मा, भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह के नाम की भी चर्चा है। 

बलिया के बांसडीह में पहली बार भाजपा का खाता खुलवाने वाली और 8 बार के विधायक रहे रामगोविंद चौधरी को मात देने वाली केतकी सिंह को मौका मिल सकता है। इसके साथ ही कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुईं रायबरेली सदर विधायक आदिति सिंह, सपा छोड़ भाजपा का दामन थामने वाली मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव को बी मंत्री बनाया जा सकता है। हाथरस सीट से पहली बार विधायक बनी अंजुला सिंह माहौर की लॉटरी लग सकती है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.