एक्सिस बैंक उन महिलाओं को फिर से नौकरी देगा, जिन्होंने लिया था ब्रेक 

मुंबई- एक्सिस बैंक ने ‘हाउस वर्क इज वर्क’ (‘HouseWorkIsWork’) पहल का आगाज किया है। बैंक इसके तहत उन महिलाओं को अवसरों की पेशकश कर रहा है, जो पेशेवर के रूप में फिर से अपना करियर शुरू करना चाहती हैं।  

इस पहल के पीछे महिलाओं को यह भरोसा देना है कि वे अभी भी रोजगार के योग्य हैं, उनमें कौशल है और वे एक बैंक में कई तरह की नौकरियों के लिए फिट हैं। एक्सिस बैंक (Axis Bank) के प्रेसिडेंट और एचआर हेड राजकमल वेमपति ने बैंक की हालिया नियुक्ति योजना – ‘HouseWorkIsWork’ पर एक संवाद में कहा कि यह इन महिलाओं को काम पर वापस लाने के लिए की गई पहल है। 

इसके लिए एक मान्यता प्राप्त संस्थान से न्यूनतम ग्रेजुएशन होना एक जरूरी शर्त है। सफलतापूर्वक नौकरी के लिए कैंडीडेट में निम्नलिखित स्किल होनी चाहिए। -अच्छा कम्युनिकेशन (मौखिक और लिखित) दबाव में काम करने और डेडलाइन को पूरा करने की क्षमता के साथ एक टीम प्लेयर बनने में दिलचस्पी और एक उपयुक्त मोबाइल डिवाइस होनी चाहिए 

लेंडर एक एचआर हेड ने कहा, “कई ऐसी महिलाएं हैं जो फुल टाइम काम करना चाहती हैं, इसलिए हम महिलाओं सहित सभी के काम के लिए जीआईजी-ए सहित हर फॉर्मेट को खोलना चाहते हैं जो आना चाहती हैं और शाखाओं में काम करना चाहती हैं। जीआईजी-ए अवसर एक्सिस बैंक का नया प्लेटफॉर्म है जो अच्छी प्रतिभाओं को आकर्षित करने के मॉडल के रूप में काम करता है, साथ ही लचीलेपन, विविधता और समावेशिता का वादा करता है। 

उन्होंने कहा कि 3,000 रिज्यूमे के साथ इस शानदार प्रतिक्रिया को देखते हुए बैंक ने ज्यादा ओवर टाइम के लिए भर्ती करने की सीमा बढ़ा दी है। सैलरी की बात करें तो एक्सिस बैंक ऐसे कर्मचारियों को उनकी जॉब, स्किल और अनुभव के आधार पर तय होगी। वेमपति ने कहा कि नौकरी अहम है और इम्प्लॉई बेनिफिट नियमित कर्मचारियों के समान होंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.