लोहिता लाइफ साइंस के खिलाफ 300 करोड़ रुपए का लासा ने मांगा मुआवजा 

मुंबई- भारत की प्रमुख API (एक्टिव फार्मा इंग्रेडिएंट) कंपनी लासा सुपरजेनेरिक्स ने लासा ने लोहिता लाइफ साइंस के खिलाफ उसने मुकदमा दायर किया है। इसके साथ ही उसने बिजनेस अवसर और ग्राहकों के हुए नुकसान के लिए 300 करोड़ रुपए की भरपाई की मांग की है।  

लासा ने शेयर बाजार को दी गई सूचना में कहा कि जानकारी के दुरुपयोग, गोपनीय उल्लंघन और अनुचित व्यापार को रोकने के लिए उसने बॉम्बे हाईकोर्ट के कॉमर्शियल डिवीजन में मुकदमा दायर किया है। यह केस लोहिता लाइफ साइंस के खिलाफ है। इसने कहा है कि एक प्रोडक्ट को तैयार करने की प्रक्रिया को प्रोटेक्ट करने के लिए यह केस फाइल किया गया है।  

लासा के अनुसार भारतीय पेटेंट नंबर 326,628 के तहत इसे दायर किया गया है। उसके मुताबिक, इसके तहत कई सारी चीजों को रोकने की मांग की गई है। इसमें ठेके वाले कर्मचारियों को लालच देने और उकसाने सहित अन्य मांगें हैं। लासा को 2011 में शुरू किया गया था। यह हाई क्वालिटी वाले प्रोडक्ट को बनाती है। इसका प्लांट महाराष्ट्र के महाड और चिपलून में है। कंपनी अपने प्रोडक्ट को ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, मध्य पूर्व, चीन, इजिप्ट, कोरिया और पाकिस्तान आदि देशों में भेजती है।  

इस बारे में कंपनी के चेयरमैन ओंकार हर्लेकर ने कहा कि यह लासा के लिए एक और उपलब्धि साबित हो सकती है। हर्लेकर ने कहा कि हम अपने प्रतिद्वंदी को एक प्रमुख प्रोडक्ट को बनाने और उसका बिजनेस करने से रोक सकते हैं। इस प्रोडक्ट के जरिए कंपनी विश्वभर में एक प्रमुख लीडरशिप के रूप में उभरने में सक्षम होगी। उन्होंने कहा कि हम लगातार संबंधित अधिकारी के साथ काम कर रहे और अपने मार्केट शेयर पर करीब से नजर रखे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.