गजब की एलआईसी, पिछले साल तिमाही में केवल 90 लाख रुपए का फायदा  

मुंबई- लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) को दिसंबर 2021 की तिमाही में 234.9 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ। गजब यह है कि एक साल पहले इसी तिमाही में उसे केवल 90 लाख रुपए का मुनाफा हुआ था। 

सरकार जल्द ही IPO के लिए बाजार नियामक सेबी के पास फाइनल पेपर दाखिल करने की योजना बना रही है। इन पेपर्स में प्राइस बैंड, पालिसीधारक और रिटेल बायर्स के लिए डिस्काउंट और शेयरों की शेयरों की वास्तविक संख्या के बारे में जानकारी होगी। 

LIC का पहले साल का प्रीमियम पिछले साल की समान तिमाही में 7,957.37 करोड़ रुपए था, जो बढ़कर 8,748.55 करोड़ रुपए हो गया। रिनिवल प्रीमियम 54,986.72 करोड़ से बढ़कर 56,822.49 करोड़ हो गया। कुल प्रीमियम 97,008.05 करोड़ से 0.78% बढ़कर 97,761.20 हो गया। भारत का अब तक का सबसे बड़ा IPO पेटीएम का है। 2021 में पेटीएम ने 18,300 करोड़ रुपए जुटाए थे। इसके बाद कोल इंडिया (2010) लगभग 15,500 करोड़ रुपए और रिलायंस पावर (2008) 11,700 करोड़ रुपए था। 

सरकार इस वित्त वर्ष में IPO लॉन्च करना चाहती है, लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण शेयर बाजार की अस्थिरता है। LIC ने 13 फरवरी को LIC के IPO के लिए DRHP दाखिल किया था। इस हफ्ते की शुरुआत में सेबी ने ड्राफ्ट पेपर्स को मंजूरी दे दी थी, जिससे शेयर बिक्री का रास्ता साफ हो गया। चालू वित्त वर्ष में 78,000 करोड़ रुपए के विनिवेश लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकार को जीवन बीमा फर्म में लगभग 31.6 करोड़ या 5% शेयर बेचकर 60,000 करोड़ रुपए से ज्यादा जुटाने की उम्मीद है। 

यदि LIC का IPO मार्च तक लॉन्च नहीं होता है, तो सरकार के लिए चालू वित्त वर्ष में अपने संशोधित विनिवेश लक्ष्य को हासिल करना संभव नहीं हो पाएगा। ड्राफ्ट प्रॉस्पेक्टस के अनुसार, LIC की एम्बेडेड वैल्यू 30 सितंबर, 2021 तक लगभग 5.4 लाख करोड़ रुपए आंकी गई थी। हालांकि DRHP से LIC के मार्केट वैल्यूएशन का पता नहीं चलता है। इंडस्ट्री स्टैंडर्ड के अनुसार यह एम्बेडेड वैल्यू का लगभग 3 गुना होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.