बाजार की गिरावट का फायदा म्यूचुअल फंड के जरिए उठा रहे हैं निवेशक  

मुंबई – रूस और यूक्रेन की लड़ाई से शेयर बाजार में पिछले 15 दिनों से गिरावट जारी है। इस दौरान काफी सारे स्टॉक निचले स्तर पर आ गए हैं। इसका फायदा उठाने के लिए निवेशक म्यूचुअल फंड में पैसा लगा रहे हैं। शेयर्स की गिरी कीमतों को खरीदने के लिए इन्होंने फरवरी में 19,705 करोड़ रुपए का निवेश किया है। SIP अकाउंट की कुल संख्या 5.05 करोड़ से बढ़कर 5.17 करोड़ रुपए हो गई है।   

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों के मुताबिक, जनवरी महीने में निवेशकों ने इक्विटी फंड में 14,887 करोड़ रुपए लगाया था जो फरवरी में 19,705 करोड़ रुपए हो गया। फ्लैक्सी कैप और सेक्टरल फंड में सबसे ज्यादा निवेश आया है। इनमें 3,000-3,000 करोड़ रुपए आए हैं। मिडकैप फंड में 1,954 करोड़ रुपए का निवेश आया जबकि जनवरी में 1,770 करोड़ रुपए आया था।  

डेट सेगमेंट से निवेशकों ने पैसे निकाले हैं। इसमें से कुल 8,274 करोड़ रुपए निकाले गए हैं। लिक्विड फंड में 40,273 करोड़ रुपए का निवेश आया है। शॉर्ट ड्यूरेशन फंड्स, कॉर्पोरेट बॉन्ड फंड में से 10-10 हजार करोड़ रुपए की निकासी की गई है। SIP के जरिए आने वाले निवेश में फरवरी में 17 करोड़ रुपए की कमी आई और यह 11,444 करोड़ रुपए रह गया।  

सेंसेक्स मंगलवार को 581 और बुधवार को 1223 अंक बढ़कर बंद हुआ। फिर भी अक्टूबर की तुलना में यह 12% नीचे है। म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का कुल असेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) 31,533 करोड़ रुपए बढ़कर 37.56 लाख करोड़ रुपए रहा। AUM का मतलब इस इंडस्ट्री में निवेशकों के पैसे का जितना वैल्यू है।  

फरवरी महीने में म्यूचुअल फंड ने कुल 42,084 करोड़ रुपए के शेयर्स खरीदे हैं। जनवरी में इन्होंने 21,928 करोड़ रुपए का शेयर्स खरीदा था। यह ऐसे समय में हुआ है, जब विदेशी निवेशक पिछले 6 महीने से लगातार भारतीय बाजार में बिकवाली कर रहे हैं। फरवरी के दौरान सेंसेक्स में 3% से ज्यादा की गिरावट आई जबकि BSE मिडकैप 5% से ज्यादा गिरा। स्मालकैप इंडेक्स 8.7% गिरा था।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.