म्यूचुअल फंड्स के SIP का असेट्स 5.8 लाख करोड़ रुपए हुआ  

मुंबई- म्यूचुअल फंड्स के SIP सेगमेंट का असेट्स 5.8 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया है। यह इस इंडस्ट्री का अब तक का रिकॉर्ड है। यह जानकारी एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एंफी) के आंकड़ों से मिली है।  

जानकारी के मुताबिक, जनवरी 2022 में सिस्टैमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान यानी SIP में अच्छी खासी तेजी दिखी है। इसी वजह से इसका असेट्स अंडर मैनेजमेंट यानी निवेशकों के जितने पैसे हैं, उसकी वैल्यू 5.8 लाख करोड़ रुपए हो गई है। SIP में मासिक निवेश10 हजार करोड़ रुपए से ऊपर आ रहा है।  

आंकड़ों के मुताबिक, म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री के असेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) में SIP का हिस्सा 15.2% से ऊपर है। पिछले पांच सालों में इसमें दो गुना की बढ़त दिखी है। रिटेल निवेशक बड़े पैमाने पर म्यूचुअल फंड में पैसे लगा रहे हैं।  

शेयर बाजार के मार्केट कैपिटलाइजेशन में 16 लाख करोड़ रुपए की कमी आई है जबकि म्यूचुअल फंड का असेट्स लगातार बढ़ रहा है। पिछले पांच सालों में SIP का AUM 33% सालाना बढ़ा है। मासिक SIP का साइज 23% की दर से बढ़ा है। जनवरी में SIP में 11,516 करोड़ रुपए का निवेश निवेशकों ने किया था।  

इस चालू वित्तवर्ष के पहले 10 महीनों यानी अप्रैल 2021 से जनवरी 2022 के दौरान एक लाख करोड़ रुपए का एसआईपी में निवेश आया है। यह इसके पहले के इसी ‌अवधि यानी 2020 के अप्रैल से 2021 के जनवरी तक में 79,370 करोड़ रुपए था। आंकड़े बताते हैं कि 2021 में म्यूचुअल फँड हाउसों ने 140 नए फंड ऑफर लॉन्च किए थे। इसके जरिए इन्होंने 99,704 करोड़ रुपए की रकम जुटाई थी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.