एलआईसी के खिलाफ 22 आपराधिक मामले दर्ज हैं, देखिए क्या हैं मामले   

मुंबई- सबसे बड़ा आईपीओ ला रही एलआईसी के खिलाफ में कुल 22 आपराधिक मामले दर्ज हैं। हालांकि इसने भी करीबन 227 आपराधिक मामले दर्ज कराए हैं। सेबी ने यह जानकारी सेबी के पास जमा कराए गए पेपर्स में दी है।  

इसमें यूनिटेक से लेकर एस्सार पावर जैसी कंपनियों के मामले हैं।भारतीय जीवन बीमा इंडस्ट्री ने 2021 में कुल 6.2 लाख करोड़ रुपए का प्रीमियम हासिल किया था। यह एक साल पहले 5.7 लाख करोड़ रुपए था। एलआईसी के बैंकर्स में कोटक महिंद्रा, एक्सिस कैपिटल, बैंक ऑफ अमेरिका, सिटीग्रुप, जेपी मोर्गन, जे एम फाइनेंशियल और अन्य हैं।  

सबसे बड़े इश्यू पेटीएम की तुलना में यह करीबन 4 गुना ज्यादा होगा। ब्रोकिंग हाउस एंजल वन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि LIC का मार्केट कैप 13 से 15 लाख करोड़ रुपए होगा। यानी यह देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के बाद सबसे बड़ी कंपनी होगी। रिलायंस का मार्केट कैप 16 लाख करोड़ रुपए के करीब है। 

इस समय LIC में सरकार की 100% हिस्सेदारी है। इसकी असेट्स 44 लाख करोड़ रुपए के पार है। इसके पास 29 करोड़ पॉलिसीज और 34.3 लाख करोड़ रुपए का लाइफ फंड्स है। 2,048 ब्रांच ऑफिस, 8 जोनल कार्यालय, 113 विभागीय कार्यालय और 11.48 लाख एजेंट्स इसके हैं। 

पिछले 2 महीने से LIC के एजेंट लगातार अपने पॉलिसीधारकों से डीमैट अकाउंट खोलने के लिए कह रहे हैं। LIC ने भी खुद कहा है कि अगर आप इस IPO का हिस्सा बनना चाहते हैं तो आपको डीमैट अकाउंट खोलना होगा। भारतीय शेयर बाजार में LIC का करीबन 3.67% हिस्सा है। यानी अन्य कंपनियों में जो उसका निवेश है, वह इतना है। इसके इस हिस्से का कुल वैल्यू 9.53 लाख करोड़ रुपए है।  

एनएसई के 278 स्टॉक ऐसे हैं, जिसमें इसकी एक पर्सेंट से ज्यादा हिस्सेदारी है। बीमा कंपनियों का जो निवेश शेयर बाजार में है, उसमें अकेले यह 77% हिस्सा अपने पास रखती है। पर्सेंट के लिहाज से IDBI बैंक में इसकी सबसे ज्यादा 49.24% हिस्सेदारी है जबकि LIC हाउसिंग फाइनेंस में यह 45.24% की मालिक है। 

इससे पहले लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) के चेयरमैन एम आर कुमार का कार्यकाल सरकार ने एक और साल के लिए बढ़ा दिया था। इसके अलावा, सरकार ने मैनेजिंग डायरेक्टर राजकुमार का कार्यकाल भी एक साल के लिए बढ़ा दिया है।  

LIC चेयरमैन का यह दूसरा एक्सटेंशन था। पिछले साल जून में उन्हें LIC के IPO के मद्देनजर 9 महीने का एक्सटेंशन दिया गया था। सरकार ने एमआर कुमार का कार्यकाल 30 जून, 2021 से बढ़ाकर 13 मार्च, 2022कर दिया था। इस एक्सटेंशन के बाद एम आर कुमार मार्च 2023 तक LIC के चेयरमैन बने रहेंगे।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.