शेयर बाजार में शुरुआती निवेशक के तौर पर कैसे बनाएं अपना पोर्टफोलियो

मुंबई- पैसा चीजों को चालू करने का एक साधन है। यही वजह है कि कंपनियां शेयर बाजार में लिस्ट होकर फंड जुटाती हैं और फिर उन्हें बदले में लाभांश और मुनाफा मिलता है। बाजार में निवेश करना एक ऐसे व्यवसाय में विश्वास करना है जो आपको लगता है कि बढ़ेगा और कुछ नहीं तो आपके पैसे को सुरक्षित रखेगा। शेयर बाजार में शुरुआती निवेशक के तौर अपना पोर्टफोलियो कैसे बनाएं इस बारे में विस्तार से जानकारी दे रहें हैं एंजेल वन लिमिटेड के इक्विटी स्ट्रैटेजिस्ट-डीवीपी ज्योति रॉय। 

निवेश की बुनियादी बातें: जैसा कि बढ़ते बाजार पूंजीकरण से स्पष्ट है, शेयर बाजार में निवेश करना इन दिनों एक चलन बन गया है। लेकिन निवेश किसी निवेशक की सतर्क पसंद, उपभोग व्यय और बचत होने के नाते एक अवसर लागत है। इस तथ्य को यहां समझना जरूरी है कि निवेश की एक अवसर लागत होती है और यह हमेशा ही अच्‍छी नहीं होती है, जैसा कि शार्क (निवेशकों की श्रेणी) की तरफ से चित्रित किया जाता है। पैसे के प्रति सचेत रहना पहला कदम है जो एक स्मार्ट निवेशक अपने शेयर बाजार की यात्रा शुरू करने की दिशा में उठा सकता है। 

निवेश में शामिल जोखिमों को समझने के बाद, अब हम निवेश के तरीकों के बारे में बात कर सकते हैं। अधिकांश ब्रोकरेज के माध्यम से व्यापक रूप से व्यापार योग्य विभिन्न परिसंपत्तियों में निवेश किया जा सकता है। शौकिया निवेशकों के लिए निवेश के लिए सुरक्षित के रूप में मूल्यांकन किए गए उपकरणों या संपत्तियों के साथ शुरुआत करना उपयुक्त है। ब्लू-चिप स्टॉक इस उद्देश्य के लिए सबसे अच्छे हैं क्योंकि ये विश्वसनीय संचालन वाली प्रतिष्ठित कंपनियों के शेयर हैं। अधिकांश शौकिया निवेशक पैसिव निवेश के साथ शुरू करते हैं क्योंकि यह उन्हें बाजार का निरीक्षण करने, जोखिम को नियंत्रण में रखने और मानवीय भावनाओं की भागीदारी को प्रतिबंधित करने की प्रक्रिया की निगरानी करने का समय देता है। 

निवेश के क्षेत्र में तकनीकी प्रगति पारंपरिक निवेश व्यवहार कई लोगों के लिए भ्रमित करने वाली और यहां तक कि कठिन हुआ करती थीं। अधिकांश बार निवेश सलाह स्पष्ट नहीं होती थी, और उच्च मूल्य जमा की आवश्यकता ने संभावित निवेशकों के मन में एक पूर्वाग्रह को बिठा दिया था। जिन लोगों ने सक्रिय रूप से निवेश किया था, वे अभी भी अपने विकल्पों के बारे में जानते थे, क्योंकि उनके पास अपने निवेश के बारे में स्पष्टता थी। दूसरी ओर, पैसिव या निष्क्रिय निवेशकों को अक्सर यह भी एहसास नहीं होता कि उन्होंने पैसा कैसे और किस पर खो दिया। 

वित्तीय क्षेत्र में तकनीक के आगमन ने तकनीक-प्रेमी निवेशकों को आकर्षित किया है, साथ ही यह निष्क्रिय निवेशकों के लिए एक वरदान है। नए जमाने के निवेश उपकरण एक्‍सेस करने योग्‍य मोबाइल ऐप के माध्यम से पोर्टफोलियो के बेहतर प्रबंधन की अनुमति देते हैं। अब, आवश्यक जमा और मार्जिन पहले से कहीं कम हैं, और सहज ज्ञान युक्त इंटरफेस के साथ शुरुआती लोगों के लिए ट्रेड टर्मिनलों के माध्यम से ब्राउज़ करने की प्रक्रिया आसान हो गई है। कई संकेतक उपलब्ध हैं जिन्हें प्राइस चार्ट पर मूवमेंट का विश्लेषण करने के लिए लागू किया जा सकता है। यहां तक कि स्वचालित अल्गोरिदम का उपयोग एक विशिष्ट तर्क पर ट्रेड करने के लिए किया जा सकता है जो फिर से मानवीय हस्तक्षेप को खत्म करने में मदद करता है। 

सुरक्षित निवेश के लिए पोर्टफोलियो में विविधता लाना: ब्लू-चिप स्टॉक्‍स सुरक्षित निवेश के लिए अच्छे रास्ते हैं, लेकिन यह याद रखने की जरूरत है कि जोखिम और रिवॉर्ड साथ-साथ काम करते हैं। प्रत्येक निवेशक को अपने लिए उपयुक्त उपकरणों की पहचान करने के लिए अपने जोखिम प्रोफाइल को परिभाषित करने की आवश्यकता होती है। अधिक मुनाफे की संभावना के साथ, जोखिम कारक भी बढ़ जाता है। परिसंपत्ति आवंटन के बढ़ते क्रम में जोखिम कारकों के साथ अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने के कुछ तरीके निम्नलिखित हैं। 

● लार्ज कैप शेयरों के म्यूचुअल फंड्स 

● लार्ज और मिड कैप शेयरों की सीधी शेयरधारिता 

● डेट मार्केट उपकरण, जैसेकि दीर्घकालीन बॉन्ड्स 

● मनी मार्केट उपकरण और छोटी अवधि के बॉन्ड्स 

पूंजी बाजार के साधन मनी मार्केट (मुद्रा बाजार) के साधनों की तुलना में सुरक्षित हैं क्योंकि वित्तीय संस्थान और पेशेवर ब्रोकर्स उनके साथ डील करते हैं। कोई भी साधन जो लंबी अवधि के लिए महंगाई से बेहतर रिटर्न देता है, एक सुरक्षित निवेश शर्त है। वैल्यू इनवेस्टिंग एक अवधारणा है जिस पर शार्क और व्हेल दोनों ही अपने धन को सुरक्षित रूप से बढ़ाने के लिए भरोसा करते हैं। 

निर्णायक विचार: निवेश के लिए चुने गए उपकरण उन शुल्कों पर आधारित होते हैं, जिन पर ये कई उपकरण संबद्ध जोखिम कारकों के अलावा आकर्षित करते हैं। फंड की लाभ देने की स्थिति की जांच के लिए निवेश योग्य संपत्तियों पर शुल्क और कर देयता को उनके रिटर्न के साथ संतुलित करने की आवश्यकता है। छोटी राशि के साथ बहुत अधिक विविधता लाना भी कठिन है, इसलिए कुछ संपत्तियों के साथ शुरुआत करना और फिर अधिक धन लगाने के समय में विविधता लाना इसके बारे में जाने का सही तरीका लगता है। 

किसी भी संपत्ति को प्राप्त करते समय अच्छा रिसर्च या शोध हमेशा फायदेमंद होता है, जोकि शेयर बाजार में होना चाहिए। बाजार में हारने वाले अधिकांश दांव इसलिए हैं क्योंकि वे ट्रेड्स या तो भावनात्मक रूप से प्रेरित थे या फिर उनमें अंतर्निहित परिसंपत्ति का उचित ज्ञान नहीं था। इसलिए होशियार बनें, अमीर बनें! 

Leave a Reply

Your email address will not be published.