मदरसन सूमी के शेयर्स में 21 पर्सेंट की गिरावट, जानिए क्या कह रहे हैं ब्रोकरेज

मुंबई- मदरसन सूमी सिस्टम्स के शेयर शुक्रवार को 21 फीसदी की गिरावट के साथ 185.50 रुपए पर बंद हुए। इस कमजोरी की मुख्य वजह वायरिंग हारनेस बिजनेस की वैल्यू का अलग होना रही, जो अब एक अलग लिस्टेड एंटिटी में डिमर्ज हो जाएगी। 

बीते साल, मदरसन सूमी ने अपने बिजनेस की रिस्ट्रक्चरिंग का ऐलान किया था, जिसके तहत प्रमोटर एंटिटी को मौजूदा लिस्टेड कंपनी में मर्ज कर दिया जाए और उसे संवर्धना मदरसन के नाम से पुकारा जाएगा, वहीं वायरिंग हारनेस बिजनेस को डिमर्ज कर दिया जाएगा। 

इस महीने की शुरुआत में, कंपनी ने कहा कि डिमर्ज्ड एंटिटी के शेयरों के इश्यू के लिए योग्य शेयरधारकों को तय करने के लिए कट-ऑफ डेट 17 जनवरी होगी। 17 जनवरीके बाद, कंपनी मदरसन सूमी सिस्टम्स के एक शेयर के बदले में घरेलू वायरिंग हारनेस बिजनेस का एक शेयर जारी होगा। 24 जनवरी को, मदरसन सूमी की प्रमोटर एंटिटी और संवर्धना मदरसन इंटरनेशनल का लिस्टेड एंटिटी मदरसन सूमी में विलय नई एंटिटी के साथ पूरा होगा, जिसका नाम संवर्धना मदरसन होगा। 

एनालिस्ट्स को घरेलू वायरिंग हारनेस बिजनेस के मार्च में स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट होने का अनुमान है। ब्रोकरेज फर्म आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने घरेलू वायरिंग हारनेस बिजनेस की वैल्यू 70 रुपये प्रति शेयर आंकी है, जो उसका लिस्टिंग प्राइस होने का अनुमान है। 

आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने 2022-23 की अर्निंग की तुलना में वायरिंग हारनेस बिजनेस का 40 गुने प्रीमियम के साथ मूल्यांकन किया है, जो लगाई गई कैपिटल पर बिजनेस से ऊंचे रिटर्न और प्योर पैसेंजर वायरिंग हारनेस मार्केट के प्रति एक्सपोजर के कारण है। ब्रोकरेज फर्म एमके ग्लोबल फाइनेंसियल सर्विसेज ने कहा, “प्रस्तावित रिस्ट्रक्चरिंग की कवायद से इनऑर्गैनिक और ऑर्गैनिक रूट्स के जरिए फ्यूचर ग्रोथ के लिए एक प्लेटफॉर्म तैयार होता है। रिस्ट्रक्चरिंग की यह कवायद कंपनी के विजन 2025- 40 फीसदी के आरओसीई के साथ 36 अरब डॉलर के रेवेन्यू टारगेट की दिशा में एक कदम है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *