HCL टेक्नोलॉजीज करेगी 40-45 हजार लोगों को भर्ती

मुंबई-  भारतीय आईटी कंपनी HCL टेक्नोलॉजीज  ने अगले वित्त वर्ष में दोगुने फ्रेशर्स को हायर करने की योजना बनाई है। कंपनी ने टेक्नोलॉजी सेवाओं की बढ़ती मांग के साथ एट्रिशन रेट में बढ़ोतरी को देखते हुए यह फैसला किया है। HCL टेक्नोलॉजीज ने शुक्रवार को एक बयान में बताया कि वह इस वित्त वर्ष यानी वित्त वर्ष 2022 में 20,000 से 22,000 फ्रेश ग्रैजुएट्स को हायर करेगी। इसका मतलब है कि अगले वित्त वर्ष यानी वित्त वर्ष 2023 में कंपनी 40 से 45 हजार फ्रेशर्स को हायर करने की योजना में है। 

एट्रिशन रेट का मतलब जितने कर्मचारियों ने कंपनी छोडी है। कंपनी ने बताया कि वह इस वित्त वर्ष में अभी तक 17,500 फ्रेशर्स को हायर कर चुकी है और मार्च तिमाही में बाकी फ्रेशर्स को हायर करेगी। HCL टेक्नोलॉजीज में फिलहाल करीब 1.97 लाख कर्मचारी हैं। जनवरी और दिसंबर 2021 के बीच, कंपनी ने 38,095 लोगों को हायर किया। इनमें से 10,143 लोगों को सिर्फ दिसंबर तिमाही में हायर किया गया है। 

हालांकि इस दौरान 19.8 फीसदी कर्मचारी कंपनी छोड़ गए हैं, जो उसके लिए एक बड़ी चिंता का विषय है। HCL टेक्नोलॉजीज ने बताया कि जून तिमाही में उसका एट्रिशन रेट 11.8 फीसदी थी, जो सितंबर तिमाही में बढ़कर 15.7 फीसदी हो गया। 

बढ़ते एट्रिशन को रोकने के लिए कंपनी कई उपाय कर रही है। पिछली तिमाही में, इसने सीनियर कर्मचारियों के लिए स्टॉक ऑप्शन का ऐलान किया, इसके सैलरी में बढ़ोतरी को 1 जुलाई से लागू करने का आदेश दिया। साथ ही जूनियर मैनेजमेंट कर्मचारियों को तिमाही आधार पर 100 फीसदी बोनस दिया गया। इसके अलावा कंपनी ने 600 कर्मचारियों की पहचान की है, जिन्हें अगली जेनरेशन के लीडर के रूप में ट्रेन किया जाएगा।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *