चीन की मोबाइल कंपनियों की ऑफिस और गोदाउन में आईटी का छापा

मुंबई- आयकर विभाग (IT) ने बुधवार को देशभर में चाइनीज मोबाइल कंपनियों शाओमी, वनप्लस और ओप्पो के ठिकाने और इनसे जुड़ी संस्थाओं पर छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर समेत देश के कई राज्यों में चाइनीज मोबाइल बनाने वाली कंपनियों से जुड़ी संस्थाओं पर छापे मारे गए हैं। इन पर कर चोरी का आरोप है।

इसमें राइजिंग स्टार और डिक्सन जो हैं वो चीन की मोबाइल फोन कंपनियों के लिए कांट्रैक्ट मैन्यूफैक्चरिंग का काम करती हैं। इनकी फैक्टरी दक्षिण भारत में है। इसमें ओपो, वनप्लस शाओमी के दिल्ली, एनसीआर, कोलकाता में स्थित 15 परिसरों पर छापे मारे गए हैं। ओपो का 10 पर्सेंट और वीवो का 15 पर्सेंट मार्केट शेयर भारत में है। यह छापे मंगलवार से ही जारी हैं। तलाशी अभियान गुप्त आय और कर चोरी पर खुफिया इनपुट पर आधारित है।

चीनी मोबाइल कंपनियों के डिस्ट्रीब्यूशन पार्टनर्स, कारपोरेट दफ्तर, गोदामों और मैन्यूफैक्चरर्स के ठिकानों पर छापा अभी जारी है। इसकी ज्यादा जानकारी अभी सामने नहीं आई है। इसी साल अगस्त में चीनी टेलीकॉम इक्विपमेंट बनाने वाली कंपनी ZTE के ठिकानों पर भी रेड मारी गई थी। इस दौरान इनकम टैक्स विभाग को कर चोरी का पता भी चला था।

इसके अलावा मोबाइल फोन बिजनेस, लोन एप्लीकेशन और ट्रांसपोर्ट बिजनेस से जुड़ी चाइनीज फर्म पर भी हाल में ही छापा मारा गया था। छापे की यह कार्रवाई केंद्रीय जांच एजेंसियों ने की थी। ग्रेटर नोएडा में चीन की मोबाइल कंपनी ओप्पो में बुधवार सुबह इनकम टैक्स की रेड पड़ी है। ऑफिस खुलने के कुछ देर बाद ही यानी करीब 11 बजे टीम पहुंच गई।

ऑफिस के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है। टीम ने फिलहाल किसी के ऑफिस से अंदर-बाहर जाने पर रोक लगा दी है। टीम कंपनी के अफसरों की मौजूदगी में दस्तावेजों की जांच कर रही है। सूत्रों ने बताया कि इनकम टैक्स विभाग को ओप्पो कंपनी द्वारा टैक्स चोरी और स्थानीय लोगों को रोजगार देने में धांधली की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.