मुकेश अंबानी की बराबरी पर गौतम अडाणी, दोनों की अब 89-89 अरब डॉलर संपत्ति

अडाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी अब संपत्ति के मामले में बराबरी पर आ गए हैं। दोनों की संपत्ति 6.63-6.63 लाख करोड़ रुपए है। डॉलर में यह 89 अरब डॉलर है। एशिया में दोनों बिजनेस टायकून अब सबसे अमीर हैं और बराबरी पर हैं।

बुधवार को अडाणी ग्रुप की फर्मों का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन 10 लाख करोड़ रुपए हो गया। वहीं रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप 14.91 लाख करोड़ रुपए पर आ गया। मार्केट कैप के हिसाब से रिलायंस आगे है, लेकिन गौतम अडाणी की अपनी कंपनियों में हिस्सेदारी रिलायंस समूह की कंपनियों में अंबानी की हिस्सेदारी की तुलना में ज्यादा है। इस वजह से वह एक दिन को अंबानी से ज्यादा अमीर बन गए थे, लेकिन अब दोनों बराबरी पर हैं।

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज में हिस्सेदारी 50.61% है जबकि अडाणी की हिस्सेदारी उनकी कंपनियों में 70.59% है। अडाणी की 3 कंपनियों में उनकी हिस्सेदारी 74.92% जबकि एक कंपनी में 74.80 और 2 कंपनियों में यह 60-64% है। मार्केट कैपिटलाइजेशन का कैल्कुलेशन शेयर की मौजूदा कीमत से शेयरों की संख्या को गुणा करके किया जाता है। वहीं व्यक्ति या कॉर्पोरेशन की संपत्ति में से देनदारियों को घटाने के बाद आई वैल्यू को नेट वर्थ कहा जाता है।

सऊदी अरामको के साथ 15 अरब डॉलर की डील टूटने के बाद से रिलायंस के शेयरों में लगातार गिरावट देखी जा रही है। ये गिरावट बुधवार को भी जारी रही। बुधवार को BSE पर रिलायंस का शेयर 1.48% गिरकर 2,350.90 रुपए पर बंद हुआ। इससे निवेशकों की 22,000 करोड़ रुपए की संपत्ति का सफाया हो गया। मुकेश अंबानी को इससे 11,000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ।

गौतम अडाणी की संपत्ति इस साल में जनवरी से अब तक 55 अरब डॉलर बढ़ी है। जबकि मुकेश अंबानी की संपत्ति केवल 14.3 अरब डॉलर बढ़ी है। अडाणी की संपत्ति 18 मार्च 2020 को केवल 4.91 अरब डॉलर थी। लेकिन अप्रैल 2020 के बाद उनकी संपत्ति में तेजी शुरू हुई। ऐसा इसलिए क्योंकि उनकी कंपनियों के शेयर्स 18 महीने में 5-6 गुना तक बढ़े हैं। इन 18 महीने में उनकी संपत्ति 1808 पर्सेंट बढ़ी है और यह 83.89 अरब डॉलर हो गई। इसी समय में मुकेश अंबानी की संपत्ति 2.5 गुना बढ़कर 91 अरब डॉलर हुई।  

जून में विदेशी निवेशकों के निवेश की खबर आने के बाद अडाणी के शेयर्स जमकर टूटे थे। अडाणी की 6 कंपनियों के शेयर्स 20 से 60% तक टूटे थे। पर अक्टूबर के बाद से इन शेयर्स में अच्छी खासी तेजी आई और यह सब एक साल के ऊपरी स्तर पर पहुंच गए हैं। 12 नवंबर को अडाणी की कंपनियों का मार्केट कैप 10 लाख करोड़ रुपए के करीब पहुंच गया था। दुनिया में रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी 11 वें नंबर के जबकि अडाणी ग्रुप के मालिक गौतम अडाणी 14 वें नंबर के सबसे अमीर बिजनेसमैन हैं।  

मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 12 नवंबर को 98.8 अरब डॉलर थी। जुलाई में शेयर्स की कीमत घटने से अडाणी की नेटवर्थ घटकर 63.5 अरब डॉलर हो गई थी। 12 नवंबर को उनकी नेटवर्थ 84 अरब डॉलर हो गई थी। गिरावट की वजह से ग्रुप का कुल मार्केट कैप 3 जुलाई को 7.08 लाख करोड़ रुपए हो गया था। हालांकि 11 जून को इन कंपनियों का मार्केट कैप 9.42 लाख करोड़ रुपए था। अब यह आंकड़ा 9.91 लाख करोड़ रुपए है। यानी जुलाई की तुलना में इसमें 2.83 लाख करोड़ रुपए की बढ़त हुई है। इस वजह से गौतम अडाणी जुलाई में दुनिया के अमीर बिजनेसमैन की रैंकिंग में 24वें नंबर पर फिसल गए थे। जुलाई के बाद से इन कंपनियों के शेयर्स फिर से रिकवर करना शुरू कर दिए थे।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *