भारतीय शेयरों को बेचें, चीन के शेयरों को खरीदें- ब्लैकरॉक

मुंबई- ब्लैकराक भारतीय इक्विटीज में अपना इन्वेस्टमेंट घटा रहा है और चाइना को लेकर ज्यादा उत्साहित नजर आ रहा है। ब्लैकराक का कहना है कि चाइना का मूल्यांकन इस समय अच्छा नजर आ रहा है। इसकी वजह यह है कि अगले साल तक चाइना में जो नीतिगत मुश्किलें दिख रही है वह आसान होती नजर आएगी।

हालांकि BlackRock अभी भी लॉन्ग टर्म के नजरिए से भारत को लेकर बुलिश है। BlackRock का मानना है कि ढ़ाचागत सुधारों, इकोनॉमिक ग्रोथ और नई लिस्टिंग की मजबूत पाइपलाइन को देखते हुए लंबी अवधि में भारतीय बाजारों में अच्छा रिटर्न मिलेगा। आगे हमें आईपीओ की लिस्टिंग में और तेजी आती दिखेगी। टेक्नोलॉजी, इंटरनेट और नई इकोनॉमी से जुड़ी कंपनियां बाजार में नई उम्मीदें लेकर आएंगी।

दुनिया के सबसे बड़े एसेट मैनेजर ब्लैकराक का कहना है कि अभी तक इस साल भारतीय बाजारों ने जोरदार आउटपरफॉर्मेंस दिखाया है। तुलनात्मक रुप से अब हमें चाइना बेहतर नजर आ रहा है और हम भारत में मुनाफावसूली पर फोकस कर रहे है और चीन के ग्रोथ स्टॉक में निवेश की रणनीति अपना रहे हैं।

दुनिया के तमाम देशों से बेहतर रैली के बाद अब भारतीय शेयरों को लेकर सेंटिमेंट में कमजोरी नजर आ रही है। तमाम ब्रोकिंग फर्मों ने इंडियन इक्विटीज की डाउन ग्रेडिंग की है। देश में लिक्विडिटी की स्थिति टाइट होने की संभावना बढ़ रही है। इसके अलावा भारत के सबसे बड़े आईपीओ (पेटीएम) के खराब प्रदर्शन ने सेटिमेंट पर बुरा असर डाला है। इसके उलटे निवेशकों में इस तरह की सोच बढ़ रही है कि अब चाइनीज स्टॉक एक बार फिर बाउंसबैक कर सकते हैं क्योंकि वहां बुरा दौर बीत गया नजर आ रहा है।

चीन की नियामक संस्थाओं ने प्राइवेट सेक्टर पर जोरदार चाबुक चलाया था। जिससे चाइनीज मार्केट में दबाव देखने को मिला था। तमाम जानकारों का मानना है कि चीन में अब बुरा दौर बीत चुका है और अब एक बार फिर चाइनीज शेयर बाउंसबैक करते दिखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *