अक्टूबर में GST कलेक्शन 1.30 लाख करोड़ रुपए, रिकॉर्ड वाला दूसरा महीना

मुंबई- त्योहारी सीजन में गुड्स एंड सर्विस टैक्स (GST) कलेक्शन ने रिकॉ़र्ड बनाया है। अक्टूबर महीने में GST का कलेक्शन 1.30 लाख करोड़ रुपए रहा है। साल 2017 अप्रैल में GST लागू होने के बाद दूसरी बार इतना कलेक्शन हुआ है। इससे पहले अप्रैल 2021 में GST से 1.41 लाख करोड़ रुपए का कलेक्शन हुआ था।  

वित्तमंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, अक्टूबर 2021 में GST का कुल कलेक्शन 130,127 करोड़ रुपए रहा। सालाना आधार पर GSTकलेक्शन में 24% का इजाफा हुआ है। जबकि 2019 के अक्टूबर की तुलना में इसमें 36% की बढ़त दर्ज की गई है। सितंबर 2021 की तुलना करें तो उस समय GST कलेक्शन 1.17 लाख करोड़ रुपए था।  

GST के कलेक्शन में तेजी से यह संकेत मिल रहा है कि कारोबार तेजी में है। चालू वित्तवर्ष की शुरुआत में देश में कोविड -19 की दूसरी लहर का असर भले रहा हो, पर तीसरी लहर का असर अभी तक नहीं दिखा है। इकोनॉमी में तेजी के सुधार से यह लगातार चौथा महीना है जब GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहा।  

वित्तमंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार अगस्त में GST का कुल कलेक्शन 1.12 लाख करोड़ रुपए था जबकि जुलाई में यह 1.16 लाख करोड़ रुपए था। जून में 92,849 करोड़ रुपए जबकि अप्रैल और मई में GST कलेक्शन 1-1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा था। कोरोना के कम असर और वैक्सीनेशन में तेजी से अब देश में सभी सेक्टर्स खुल गए हैँ। यहां तक कि सिनेमाघर और स्वीमिंग पुल से लेकर अब स्कूल और कॉलेज तक खुल रहे हैं। इस वजह से इकोनॉमी खुलने से कारोबार पटरी पर आ गए हैं। इससे GST कलेक्शन में तेजी आ रही है।  

सरकार ने बताया कि अक्टूबर में GST कलेक्शन में CGST का हिस्सा 23,861 करोड़ रुपए, SGST का हिस्सा 30,421 करोड़ रुपए और IGST का हिस्सा 67,361 करोड़ रुपए था। IGST सामानों के आयात पर एकत्र 32,998 करोड़ रुपए रहा। सेस के रूप में 8,484 करोड़ रुपए मिला।  

बयान में सरकार ने कहा कि हर महीने जनरेट होने वाले ई-बिलों के रुझानों से यह स्पष्ट है कि कारोबार तेजी में है। मंत्रालय ने कहा कि यदि सेमीकंडक्टर औऱ् अन्य चिप की वजह से ऑटो और इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट की बिक्री पर असर नहीं होता जो GST कलेक्शन और अधिक होता। दरअसल चिप की कमी से इस समय ऑटो और इलेक्ट्रॉमिक आयटम पर बुरा असर पड़ रहा है। मारुति जैसी कंपनियों ने कहा कि उनकी 1.66 लाख गाड़ियों की बिक्री सितंबर में चिप की कमी की वजह से घट गई।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.