दिसंबर तिमाही में 35 आईपीओ से कंपनियां जुटाएंगी 80 हजार करोड़ रुपए

मुंबई- इस साल की शुरुआत से ही आईपीओ की बारिश हो रही है। दिसंबर तिमाही में 35 कंपनियां 80 हजार करोड़ जुटाने के लिए उतरेंगीं। इंडस्ट्री के लगभग हर एक वर्टिकल की कंपनी आईपीओ की तैयारी में हैं। इनमें से पेटीएम, पॉलिसी बाजार और नायका जैसी बड़ी स्टार्ट-अप भी शामिल हैं। नायका इसी हफ्ते आईपीओ लेकर आ रही है। 

इन कंपनियों के साथ कई दूसरी कंपनियां भी बाजार में उतर रही हैं। इनका इरादा 4000 करोड़ से 16,600 करोड़ रुपये जुटाने का है। पारादीप फास्फेट्स, वेदांत फैशन्स, सीएमएस इन्फो सिस्टम्स और नॉदर्न आर्क जैसी कंपनियां हैं, जो 2000-2500 करोड़ रुपये जुटाने जा रही हैं। 

आरोहण फाइनेंशियल सर्विसेज और उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंशियल बैंक, रुचि सोया इंडस्ट्रीज का ड्राफ्ट पेपर सेबी में मंजूर हो चुका है। ये कंपनियां लगभग 22 हजार करोड़ रुपये जुटाएंगीं। आईपीओ के लिए 64 कंपनियों ने अपना ड्राफ्ट पेपर सेबी में जमा कर दिया है। दरअसल कोविड-19 के दौरान बुरी तरह लड़खड़ाई अर्थव्यवस्था के अब तेजी से पटरी पर आने के आसार दिखने लगे हैं। ऐसे में कंपनियां आईपीओ मार्केट में तेजी का फायदा उठाने की पूरी कोशिश करेंगीं। 

भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने के लिए सरकार और आरबीआई ने कई कदम उठाए हैं। इसका फायदा भी आईपीओ निवेशकों को मिल सकता है। हालांकि यह भी सही है कि पिछली तिमाही में आए कुछ आईपीओ को निवेशकों का अच्छा रेस्पॉन्स नहीं मिला था। आईपीओ बूम का सबसे अधिक फायदा स्टार्ट-अप सिस्टम को होगा। पेटीएम, पॉलिसीबाजार और नायका के आईपीओ में निवेशकों की दिलचस्पी दिखने लगी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *