पहली बार एक्सिस बैंक का फायदा 3,133 करोड़ रुपए, कैनरा बैंक का फायदा दोगुना बढ़ा

मुंबई- दो निजी और दो सरकारी सेक्टर के बैंकों ने मंगलवार को फाइनेंशियल रिजल्ट जारी किया। सेंट्रल बैंक कम फायदा कमाने वाला रहा जबकि कोटक महिंद्रा बैंक का फायदा इस बार घटा है। इसमें एक्सिस बैंक और कैनरा बैंक सबसे ज्यादा फायदा सितंबर तिमाही में कमाए।  

निजी सेक्टर के तीसरे सबसे बड़े बैंक एक्सिस बैंक को सितंबर तिमाही में 3,133 करोड़ रुपए का शुद्ध फायदा हुआ है। एक साल पहले समान तिमाही में हुए 1,683 करोड़ रुपए के फायदे की तुलना में यह 86% ज्यादा है। बैंक का शेयर मामूली गिरावट के साथ 842 रुपए पर बंद हुआ।  

बैंक का ग्रॉस बुरा फंसा कर्ज (NPA) सितंबर तिमाही में 3.53% रहा। एक साल पहले यह 4.28% था। पिछली 20 तिमाहियों यानी 5 साल में बैंक का यह सबसे कम NPA रहा। बैंक की फी इनकम 17% बढ़कर सालाना आधार पर 3,231 करोड़ रुपए रही। रिटेल फी 19% बढ़ी है।  

बैंक ने बताया कि उसके इतिहास में किसी एक तिमाही में यह सबसे ज्यादा फायदा का रिकॉर्ड है। बैंक के मुताबिक, उसकी शुद्ध ब्याज आय 8% बढ़कर सालाना आधार पर 7,900 करोड़ रुपए रही जो कि एक साल पहले समान तिमाही में 7,326 करोड़ रुपए थी।  

कैनरा बैंक का शुद्ध फायदा सितंबर तिमाही में एक साल पहले की तुलना में करीबन दो गुना बढ़ा है। इसका फायदा सितंबर 2021 की तिमाही में 1,333 करोड़ रुपए रहा जो कि एक साल पहले 444 करोड़ रुपए था। बैंक का कुल कारोबार 17.19 लाख करोड़ रुपए रहा जो कि एक साल पहले की तुलना में 7.61% बढ़ा है। इसकी कुल जमा रकम 10.32 लाख करोड़ रुपए और उधारी 6.86 लाख करोड़ रुपए रही। बेहतर परिणामों के बावजूद कैनरा बैंक का शेयर 4.23% गिरकर 193 रुपए पर बंद हुआ। हालांकि सुबह में यह 207 रुपए तक गया था जो इसका एक साल का हाई है। एक साल पहले यह शेयर 84 रुपए पर था जबकि एक महीने पहले 158 रुपए पर था। तब से इस शेयर में लगातार तेजी बनी रही।  

बैंक ने बताया कि कुल उधारी में सालाना आधार पर 7.61% की बढ़त दूसरी तिमाही में रही है। रिटेल पोर्टफोलियो 11.19 लाख करोड़ रुपए का रहा। इसमें सालाना आधार पर 10.46% की बढ़त दिखी है। होम लोन पोर्टफोलियो 14.21% बढ़कर 67,386 करोड़ रुपए हो गया है। व्हीकल लोन पोर्टफोलियो 13,697 करोड़ रुपए रहा। बैंक ने बताया कि उसका शुद्ध NPA सितंबर 2021 में 3.21% रहा जो जून में 3.46% था। बैंक की कुल 9,800 शाखाएं हैं।  

निजी सेक्टर के दूसरे बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक ने बताया कि सितंबर तिमाही में उसका फायदा 7% घटकर 2,032 करोड़ रुपए रहा। एक साल पहले बैंक को 2,184 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। जून तिमाही में बैंक को 1,642 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। शुद्ध ब्याज आय सालाना आधार पर 4,021 करोड़ रुपए रही, जबकि ग्रॉस बुरा फंसा कर्ज (NPA) 3.19% रहा। एक साल पहले NPA 2.7% था। बैंक की करेंट अकाउंट की डिपॉजिट 32% बढ़कर 53,280 करोड़ रुपए रही जो एक साल पहले 40,454 करोड़ रुपए थी। सेविंग अकाउंट की डिपॉजिट 13% बढ़कर 1.23 लाख करोड़ रुपए रही। एक साल पहले यह 1.08 लाख करोड़ रुपए थी।  

दूसरे सरकारी बैंक, सेंट्रल बैंक का फायदा सितंबर तिमाही में 250 करो़ड़ रुपए रहा। एक साल पहले इसी तिमाही मैं बैंक को 161 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। उसकी तुलना में बैंक को इस बार 55.28% ज्यादा का फायदा हुआ है। बैंक का शेयर 4.66% बढ़कर 23.60 रुपए पर बंद हुआ। एक साल पहले यह शेयर 10 रुपए पर था जबकि एक महीने पहले 20 रुपए पर था। बैंक ने बताया कि उसे चालू वित्तवर्ष की पहली तिमाही में 206 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। बैंक का ऑपरेटिंग फायदा 1,401 करोड़ रुपए सितंबर तिमाही में रहा जो 2020 सितंबर में 1,386 करोड़ रुपए था। चालू और बचत अकाउंट यानी कासा अनुपात 49.79% रहा जो एक साल पहले 47.72% था।  

बैंक का NPA 4.51% रहा जो कि एक साल पहले सितंबर तिमाही में 5.60% था। इसमें 1.09% की कमी आई। जून तिमाही में यह 5.09% था। बैंक की शुद्ध ब्याज आय 2,459 करोड़ रुपए रही जो कि एक साल पहले 2,354 करोड़ रुपए थी। सालाना आधार पर इसमें 599% की बढ़त दिखी है। जून तिमाही की तुलना में इसमें 16.86% की बढ़त दिखी है। बैंक की नेटवर्थ 19 हजार करोड़ रुपए रही। इसके पास 2.83 एक्टिव डेबिट कार्ड ग्राहक हैं। एक साल पहले 2.53 करोड़ डेबिट कार्ड थे। बैंक का कुल बिजनेस 5.12 लाख करोड़ रुपए रहा जो कि एक साल पहले 5 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा था।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.