म्यूचुअल फंड निवेशको को 100% का मुनाफा, जानिए फंड हाउसों ने कैसे दिलाया इतना फायदा

मुंबई- पिछले 15 दिनों में टाटा मोटर्स का शेयर जमकर उछला है। इसको भांपते हुए फंड हाउसों ने सितंबर में इस शेयर में 7,165 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा था। एयरटेल के शेयर्स में गिरावट के रुझान को भी भांप लिया था। इसमें सितंबर में 42,914 करोड़ रुपए के शेयर बेच दिए।

एयरटेल का शेयर का भाव 667 से 739 रुपए पर चला गया। टाटा मोटर्स का शेयर एक महीना में 293 रुपए से बढ़कर 532 रुपर चला गया। फंड हाउसों को हालांकि IRCTC के शेयर में और फायदा होता। क्योंकि एक महीना में यह शेयर 65% बढ़कर 5,300 रुपए को पार कर गया है। सितंबर में फंड हाउसों ने इसके 2,879 करोड़ रुपए के शेयर बेच दिए। फिर भी ज्यादातर शेयर्स में फंड हाउसों ने पिछले एक साल में 100% से ज्यादा का मुनाफा कमाया है। यह मुनाफा फंड स्कीम में निवेश करने वाले निवेशकों को मिला है।

लार्ज कैप में सबसे ज्यादा खरीदी फंड हाउसों ने SBI लाइफ इंश्योरेंस के शेयर में की है। इसके 13,254 करोड़ रुपए के शेयर सितंबर महीने में खरीदे गए हैं। इसमें खरीदी का कारण यह है कि बीमा कंपनियों के प्रीमियम में कोरोना के दौरान अच्छी खासी बढ़त आई है जिससे इनके शेयर पर असर दिखा है। जबकि दूसरे नंबर पर टाटा मोटर्स है।

टाटा मोटर्स का 7,165 करोड़ रुपए के शेयर खरीदा गया। टाटा मोटर्स का शेयर बुधवार को 18% बढ़कर 500 रुपए के पार चला गया था। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें 7,500 करोड़ रुपए का निवेश टीपीजी राइज कर रही है। टाटा मोटर्स इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए नई कंपनी बना रही है और इस वजह से कंपनी का शेयर पिछले 1 महीना में अच्छा खासा बढ़ा है। SBI कार्ड्स के 6,762 करोड़ रुपए के शेयर म्यूचुअल फंड हाउसों ने खरीदे हैं। कंपनी के शेयर में तेजी है क्योंकि त्योहारी सीजन में क्रेडिट कार्ड का अच्छा खासा इस्तेमाल ग्राहक करते हैं।

त्योहारी सीजन में ऑटो की भी अच्छी मांग रहती है। इस वजह से फंड हाउसों ने बजाज ऑटो के 5,415 करोड़ रुपए के शेयर सितंबर में खरीदे थे। अंबूजा सीमेंट के 4,369 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे गए हैं। धीरे-धीरे बढ़ रहे अडाणी एंटरप्राइज के शेयर्स में फिर खरीदी लौट रही है। फंड हाउसों ने इसके 2,647 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे हैं। इस दौरान जिन लार्ज कैप शेयर्स से फंड हाउस निकल गए उसमें भारती एयरटेल के सबसे ज्यादा शेयर बिके। इसके 42,914 करोड़ रुपए के शेयर फंड हाउसों ने सितंबर में बेच दिए। यानी इस शेयर में आगे गिरावट आने की आशंका है।

वेदांता के 3,530 करोड़ रुपए के शेयर बेचे गए जबकि HDFC लाइफ इंश्योरेंस के 6,717 करोड़ रुपए के शेयर बेचे गए। बायोकॉन के 1,116, बंधन बैंक के 1,090 और कोलगेट के 1,070 करोड़ रुपए के शेयर फंड हाउसों ने बेच दिए। मिड कैप में अशोक लेलैंड के 5,425 करोड़ रुपए के जबकि मैक्स हेल्थकेयर के 5,043 करोड़ रुपए के शेयर्स खरीदे गए हैं। भारत फोर्ज के 4,294 करोड़ रुपए के जबकि ओबेरॉय रियल्टी के 2,093 करोड़ रुपए के शेयर फंड हाउसों ने खरीदे हैं।

मिड कैप में जो प्रमुख शेयर बेचे गए हैं उसमें IRCTC के 2,879 करोड़ रुपए के शेयर बेचे गए हैं। गुरुवार को यह शेयर 9% बढ़ा। लिंडे इंडिया के 1,812 करोड़ रुपए के शेयर बेचे गए जबकि वोल्टास के 8,596 और SRF के 6,797 करोड़ रुपए के शेयर बेचे गए हैं। वोल्टास एसी, फ्रिज जैसे आइटम बनाती है। अब जाड़े के मौसम में इनकी बिक्री कम हो जाती है इसलिए इसके शेयर को म्यूचुअल फंड कंपनियों ने बेच दिया है।

स्माल कैप में फंड हाउसों ने सबसे ज्यादा खरीदी कैन फिन होम्स में की है। इसके 1,772 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे गए हैं। एसाब इंडिया के 456 करोड़ के और अरविंद फैशन के 357 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे गए हैं। स्माल कैप में कैम्स (कंप्यूटर एज मैनेजमेंट सर्विसेस) के 1,236 करोड़ रुपए के शेयर बेचे गए हैं। उसके बाद ITD के 195 करोड़ के, ग्रेन्यूएल के 195 करोड़ के और लक्ष्मी ऑर्गेनिक के 129 करोड़ रुपए के शेयर बेचे गए हैं।

कोटक महिंद्रा म्यूचुअल फंड ने सितंबर में माइंडट्री का 162 करोड़ का जबकि बजाज फिनसर्व का 126 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा है। इसका सबसे ज्यादा निवेश ICICI बैंक में 7,469 करोड़ रुपए है। HDFC बैंक में 5,907 करोड़, इंफोसिस में 4,417 करोड़ और रिलायंस इंडस्ट्रीज में 3,889 करोड़ रुपए का निवेश है।

HDFC म्यूचुअल फंड ने एयरटेल का 86 लाख शेयर सितंबर में बेचा है। ओरिएंट सीमेंट का इसने 47 लाख शेयर जबकि जोमैटो का 43 लाख शेयर बेच दिया। हालांकि इन सभी ने 66 से 165% का रिटर्न दे दिया है। इसलिए फंड हाउस इनमें से निकल गया। पावर फाइनेंस का इसने 36 लाख शेयर बेचा है। इसने 114% का रिटर्न पिछले एक साल में दिया है।

SBI म्यूचुअल फंड ने मैक्स हेल्थकेयर के 2,235 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे हैं। अडाणी एंटरप्राइजेज का 398 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा है। सबसे ज्यादा निवेश इसका HDFC बैंक में है जो 28,689 करोड़ रुपए है। रिलायंस इंडस्ट्रीज में इसने 22,517 करोड़ रुपए जबकि इंफोसिस में 21,428 करोड़ रुपए का निवेश किया है।

ICICI प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड ने SBI कार्ड्स एंड पेमेंट का 580 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा है। अरविंद फैशन का इसने 239 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा है। ICICI बैंक में इसका निवेश सबसे अधिक 13,578 करोड़ रुपए है। HDFC बैंक में 9,783 करोड़ रुपए, एयरटेल में 9,473 और इंफोसिस में 9,077 करोड़ रुपए का निवेश है।

HDFC म्यूचुअल फंड ने सितंबर में टाटा मोटर्स का 1,649 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा था। अडाणी एंटरप्राइज में इसने 202 करोड़ रुपए का शेयर जबकि जी एंटरटेनमेंट में 190 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा है। इसका सबसे ज्यादा निवेश SBI में है जो 10,535 करोड़ रुपए है। ICICI बैंक में इसका 10,186 करोड़ रुपए, इंफोसिस में 7,907 और HDFC बैंक में 7,163 करोड़ रुपए का निवेश है।

आदित्य बिड़ला म्यूचुअल फंड ने सितंबर में ONGC का 274 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा था। ग्लेनमार्क का 180 करोड़ और MCX का 142 करोड़ रुपए का शेयर खरीदा था। इसने सबसे ज्यादा निवेश ICICI बैंक में किया है जो 6,838 करोड़ रुपए है। HDFC बैंक में 5,361, इंफोसिस में 5,263 और HDFC में 2,878 करोड़ रुपए का इसका निवेश है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *