बाजार महंगे स्तर पर है, असेट अलोकेशन पर फोकस करें निवेशक- अमित गणात्रा, HDFC म्यूचुअल फंड

मुंबई- शेयर बाजार इस समय रिकॉर्ड ऊंचाई पर है। बीएसई का सेंसेक्स गुरुवार को 61 हजार को पार कर गया। निफ्टी भी 18200 के ऊपर है। ऐसे में निवेशकों के लिए काफी महंगा बाजार इस समय है। निवेशकों को इस समय कहां निवेश करना चाहिए, कैसे करना चाहिए, इस बारे में बता रहे हैं HDFC म्यूचुअल फंड के सीनियर फंड मैनेजर अमित गणात्रा।

प्रश्न- भारतीय इक्विटी बाजार अपने उच्चतम स्तर पर ट्रेड कर रहा है। क्या निवेशकों को मल्टी असेट फंड के बारे में सोचना चाहिए?
उत्तर: पिछले 1 वर्ष में बाजार में तेजी के बाद लार्ज कैप्स, मिडकैप्स‍ और स्मॉल कैप्स के मूल्यांकन री-रेट हुए हैं 31 अगस्त, 2021 तक निफ्टी 50, 20.2X FY23E के प्राइस टू अर्निंग पर ट्रेड कर रहा था। आगे, निफ्टी-50 के 10 वर्ष और 15 वर्ष के सीएजीआर रिटर्न्स5 अब जीडीपी वृद्धि के करीब हैं। बाजार का वैल्यूएशन अब सस्ता नहीं है। निवेशकों को सावधानी बरतनी चाहिए।

बढ़ते कोरोना वैक्सीनेशन, दबी हुई मांग रिकवरी, अनुकूल मौद्रिक एवं वित्तीय नीतियां, टैक्स कलेक्शन में उछाल असेट क्लास के रूप में इक्विटीज के लिए रचनात्मक माहौल तैयार करते हैं। निवेशकों को इक्विटीज में भाग लेना चाहिए लेकिन उन्हें असेट अलोकेशन का सम्मान करना चाहिए।

प्रश्न- किस तरह के निवेशकों के लिए मल्टी असेट फंड श्रेणी उपयुक्त है?
जवाब-मल्टी-असेट फंड श्रेणी उन निवेशकों के लिए अच्छा है जो ऐसा सिंगल प्रोडक्ट् चाह रहे हैं जिससे लंबी अवधि में 3 असेट्स क्लास – इक्विटी, डेट एवं गोल्ड में निवेश किया जा सके।

प्रश्न- कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर, टिकाऊ आर्थिक रिकवरी, संभावित ज्यादा महंगाई और बाजार के महंगे वैल्यूएशन से जुड़ी निवेश अनिश्चितताओं को मल्टी असेट फंड कैसे दूर कर सकता है?
उत्तर: आज की अस्थिरता एवं अनिश्चितता भरे माहौल में, किसी भी निवेशक के लिए असेट अलोकेशन महत्वपूर्ण है। एचडीएफसी मल्टीअ असेट फंड असेट अलोकेशन के लिए मॉडल-आधारित एप्रोच को अपनाता है। यह मॉडल मूल्यांकनों के आधार पर अनहेज्डव इक्विटी अलोकेशन के प्रतिशत को दर्शाता है। इक्विटी आवंटन (हेज्डह + अनहेज्ड), कुल परिसंपत्तियों के 65% से 80% के बीच होता है, जिसमें से मॉडल द्वारा संकेतित अनहेज्ड इक्विटी अलोकेशन कुल असेट्स के 40% से 80% के बीच होता है।

31 अगस्त 2021 तक, स्कीम के पोर्टफोलियो का इक्विटी अलोकेशन कुल परिसंपत्तियों का 66.2% था, जिसमें से अनहेज्डस इक्विटी आवंटन कुल असेट्स का 50.4% था। 31 अगस्त, 2021 तक, स्कींम का 11% आवंटन गोल्ड से जुड़े इंस्ट्रुमेंट्स में था और 19% आवंटन डेट में था।

प्रश्न- क्या आप व्यापक बैक टेस्टिंग आधारित एचडीएफसी म्यूचुअल फंड के प्रोप्रायटरी फाइनेंशियल मॉडल के बारे में विस्तार से बता सकते हैं?
उत्तर: जैसा कि ऊपर बताया गया है, यह मॉडल अनहेज्डफ इक्विटी आवंटन के प्रतिशत (%) को दर्शाता है और इसे व्या‍पक बैक-टेस्टिंग के आधार पर तैयार किया गया है। इस मॉडल में जिन कारकों को ध्यानन में रखा गया है वो हैं – 1) ट्रेलिंग 12M प्राइस / अर्निंग्सस (P/E), 2) 1 वर्ष फॉरवार्ड प्राइस/अर्निंग्सव (P/E), 3) ट्रेलिंग 12m प्राइस बुक वैल्यूय (P/B), और 4) अर्निंग यील्डर/जी-सेक यील्डा। यदि पिछले समय की तुलना में बाजार महंगे रहते हैं, तो यह मॉडल निम्न अनहेज्ड इक्विटी आवंटन दर्शायेगा और यदि बाजार सस्तेल रहते हैं तो यह उच्च अनहेज्डि इक्विटी आवंटन दर्शायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *