एयरटेल के राइट्स इश्यू में बड़े फंड हाउस कर रहे हैं खरीदी

मुंबई- भारती एयरटेल के राइट्स इश्यू में म्यूचुअल फंड कंपनियों की अच्छी खासी दिलचस्पी है। बड़े फंड हाउस जैसे SBI, ICICI प्रूडेंशियल HDFC, HSBC म्यूचुअल फंड इस राइट्स इश्यू में खरीदारी कर रहे हैं। कंपनी इसके जरिए 21 हजार करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखी है। 

एयरटेल में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 56% है। इसमें सुनील मित्तल और सिंगटेल की हिस्सेदारी है। मित्तल परिवार के पास 24% से ज्यादा हिस्सेदारी है। इसलिए प्रमोटर्स ग्रुप अपनी होल्डिंग के अनुपात में राइट्स इश्यू में शेयर खरीद सकता है।भारती एयरटेल देश की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। इसका राइट्स इश्यू 21 अक्टूबर को बंद होगा।  

कंपनी का दो साल बाद यह दूसरा राइट्स इश्यू है। इससे पहले मई 2019 में कंपनी ने 25 हजार करोड़ रुपए जुटाया था। कंपनी शेयर प्राइस की तुलना में डिस्काउंट पर शेयर दे रही है। 535 रुपए प्रति शेयर के भाव पर इसे खरीदा जा सकता है। बुधवार को शेयर 694 रुपए पर कारोबार कर रहा था।  

एयरटेल का एंटाइटल शेयर पिछले हफ्ते एक्सचेंज पर लिस्ट हुआ था। यह 192 रुपए पर लिस्ट हुआ था और 209 रुपए पर कारोबार कर रहा था। यानी 33% प्रीमियम पर लिस्ट हुआ था। इसका राइट्स एंटाइटल का वैल्यू 146 रुपए था। राइट्स इश्यू में उन निवेशकों को शेयर मिलेगा, जिनके पास पहले से शेयर है। हर 14 शेयर पर एक शेयर मिलेगा।  

निवेशक अगर इस शेयर को नहीं लेना चाहते हैं तो वे इसे बेच भी सकते हैँ। निवेशकों को पहले चरण में केवल 133.75 रुपए का पेमेंट 21 अक्टूबर से पहले करना होगा। उसके बाद बाकी पैसा किस्तों में देना होगा। रिटेल निवेशक 14 अक्टूबर तक एंटाइटलमेंट के तहत शेयर्स को बेच सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, म्यूचुअल फंड हाउसों के पास पहले से एयरटेल का शेयर है। इसलिए वे बड़े पैमाने पर इसमें सस्ते भाव पर दांव लगा रहे हैं। इस वजह से राइट्स इश्यू में भारी सब्सक्रिप्शन मिल सकता है।  

एनालिस्ट कहते हैं कि हाल में सरकार ने टेलीकॉम सेक्टर को जो राहत दिया है, उससे टेलीकॉम कंपनियां आने वाले समय में अच्छा प्रदर्शन कर सकती हैं। फंड हाउसेस ने अच्छा खासा निवेश इस बार के राइट्स इश्यू में किया है। एयरटेल का शेयर पिछले एक साल में अच्छा प्रदर्शन किया है। ज्यादातर ब्रोकरेज हाउसेस इसे खरीदने की सलाह दिए हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *