टाटा ग्रुप का मार्केट कैप 23.50 लाख करोड़, रिलायंस इंडस्ट्रीज 17 लाख करोड़ की कंपनी

मुंबई- देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) का मार्केट कैप पहली बार 17 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया है। इसका शेयर कल 2,681 रुपए पर कारोबार कर रहा था। पिछले 10-15 दिनों से इसके शेयर में जबरदस्त तेजी है।  

ग्रुप के लिहाज से देखें तो टाटा ग्रुप मार्केट कैप में सबसे आगे है। इसकी कुल 29 लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद 23.52 लाख करोड़ रुपए रहा। रिलायंस ग्रुप की कुल 10 लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 18.06 लाख करोड़ रुपए रहा। यानी टाटा ग्रुप से यह 5 लाख करोड़ से ज्यादा पीछे है। तीसरे नंबर पर HDFC ग्रुप है। इसकी कुल 5 लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 15.87 लाख करोड़ रुपए रहा।  

चौथे नंबर पर बजाज ग्रुप है। इसकी कुल लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 9.37 लाख करोड़ रुपए है जबकि पांचवें नंबर पर अडाणी ग्रुप है। इसकी कुल 6 लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 8.82 लाख करोड़ रुपए है। छठें नंबर पर इंफोसिस अकेले है जिसका मार्केट कैप 7 लाख करोड़ रुपए जबकि SBI ग्रुप का मार्केट कैप 6.35 लाख करोड़ रुपए है। ICICI ग्रुप की चार लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 6.76 लाख करोड़ रुपए है। बिड़ला ग्रुप की लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 5.09 लाख करोड़ रुपए है।  

टाटा ग्रुप की कंपनियों का मार्केट कैप पिछले हफ्ते 1.31 लाख करोड़ रुपए बढ़ा था। रिलायंस का मार्केट कैप 1.01 लाख करोड़ रुपए बढ़ा तो HDFC ग्रुप का मार्केट कैप 10,193 करोड़ रुपए बढ़ा था। बजाज ग्रुप का मार्केट कैप 16,853 करोड़ रुपए बढ़ा तो अडाणी ग्रुप का मार्केट कैप 25,782 करोड़ रुपए बढ़ा था। इंफोसिस का 25 हजार करोड़ रुपए, ICICI ग्रुप का 4 हजार करोड़ रुपए मार्केट कैप बढ़ा था। SBI ग्रुप का 12 हजार करोड़ रुपए मार्केट कैप बढ़ा था।  

रिलायंस इंडस्ट्रीज 17 लाख करोड़ रुपए के साथ टॉप पर है। जबकि HDFC ग्रुप में HDFC बैंक 8.82 लाख करोड़ रुपए के साथ टॉप पर है। HDFC का मार्केट कैप 4.91 लाख करोड़ रुपए है। टाटा ग्रुप में TCS 13.77 लाख करोड़ रुपए के साथ सबसे बड़ी कंपनी है। हालांकि शुक्रवार को इसका मार्केट कैप 14.55 लाख करोड़ रुपए था। शुक्रवार को रिजल्ट आने के बाद सोमवार को इसका मार्केट कैप 88 हजार करोड़ रुपए घट गया है।  

पिछले हफ्ते पहली बार टाइटन का मार्केट कैप 2 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया। टाटा ग्रुप में टाइटन दूसरी सबसे बडी कंपनी है। ICICI ग्रुप में ICICI बैंक सबसे ज्यादा मार्केट कैप वाली कंपनी है। इसका मार्केट कैप 4.94 लाख करोड़ रुपए है। बजाज ग्रुप में बजाज फाइनेंस 4.73 लाख करोड़ रुपए के साथ सबसे टॉप पर है। SBI ग्रुप में SBI 4.10 लाख करोड़ रुपए के साथ टॉप पर है। अडाणी ग्रुप में अडाणी ट्रांसमिशन का सबसे ज्यादा मार्केट कैप है। इसका मार्केट कैप 1.81 लाख करोड़ रुपए है। हालांकि पिछले हफ्ते इसका मार्केट कैप 2 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया था।  

टाटा ग्रुप के कई शेयर्स इस साल निवेशकों की रकम को दोगुना कर दिए हैं। इसके टाटा मोटर्स के शेयर ने 108%, टाटा एलेक्सी के शेयर ने 241% और टाटा पावर के शेयर ने 133% का रिटर्न दिया है। इसी तरह टाटा केमिकल के शेयर ने 102%, टाटा टेलीसर्विसेस ने 448%, टाटा कॉफी ने 109%, टिनप्लेट कंपनी ने 107%, नेल्को ने 345% और ऑटोमोटिव ने 177% का रिटर्न दिया है। 

इसके अलावा TCS के शेयर्स ने 37%, टाइटन के शेयर्स ने 50% और ट्रेंट के शेयर्स ने 60% का रिटर्न दिया है। टाटा ग्रुप की करीबन सभी कंपनियों ने इस साल में दो अंकों से ज्यादा का रिटर्न दिया है। टाटा मोटर्स, टाइटन, एलेक्सी, वोल्टास, इंडियन होटल्स के शेयर्स शुक्रवार को एक साल के ऊपरी स्तर पर पहुंच गए। शेयर्स की कीमतों में तेजी से इस साल इस ग्रुप के मार्केट कैप में 7.53 लाख करोड़ रुपए की बढ़त आई है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *