पारस डिफेंस का शेयर हर दिन अपर सर्किट के साथ बंद, IPO के बाद पहली बार ऐसा हुआ

मुंबई- पारस डिफेंस का अभी भी रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड कायम है। एक अक्टूबर से इस कंपनी का शेयर रोज अपर सर्किट के साथ बंद हो रहा है। अपर सर्किट मतलब एक दिन में उससे ज्यादा भाव शेयर का नहीं बढ़ सकता है। पारस डिफेंस का शेयर एक अक्टूबर को 475 रुपए पर लिस्ट हुआ था। उस दिन इसमें 5% का अपर सर्किट लगा और यह 498 रुपए पर बंद हुआ। उसके बाद से हर दिन इसमें 5% का अपर सर्किट लग रहा है।  

शुक्रवार को यह शेयर 5% बढ़त के साथ 636 रुपए पर बंद हुआ। इसका मार्केट कैप 2,481 करोड़ रुपए रहा। अभी तक किसी भी कंपनी का IPO आने के बाद दो से तीन दिन तक ही अपर सर्किट में शेयर रहा है। बर्गर किंग का शेयर लिस्टिंग के बाद 3 दिन तक अपर सर्किट में था। यह तीसरे दिन 219 रुपए पर जाने के बाद गिरावट की ओर चला गया। इसका इश्यू 60 रुपए पर आया था। जोमैटो के शेयर में भी एक ही दिन अपर सर्किट लगा था। पारस डिफेंस पहली कंपनी है जिसका शेयर 5 दिनों तक अपर सर्किट में रहा। 

पारस डिफेंस के शेयर में अपर सर्किट बाजार खुलने के पहले ही मिनट में लग जाता है। उसके बाद से यह कभी कम ज्यादा नहीं होता है। इसका इश्यू 165-170 रुपए में आया था। जिन निवेशकों को इश्यू में शेयर मिला होगा, उनको अब तक के 6 कारोबारी दिनों में 3.5 गुना से ज्यादा फायदा मिला है। जिन लोगों ने लिस्टिंग के बाद शेयर खरीदा उनको 30% या प्रति शेयर 138 रुपए का फायदा हुआ है।  

एक अक्टूबर को लिस्ट होने के बाद कंपनी का मार्केट कैप 1,945 करोड़ रुपए था। तब से यह 536 करोड़ रुपए बढ़कर 2,481 करोड़ रुपए हो गया है। IPO में जिन निवेशकों को एक लॉट भी मिला है, उनकी 14,875 रुपए की रकम 50 हजार रुपए  से ज्यादा हो गई है।  

इश्यू 21 सितंबर को खुला था और 23 सितंबर को बंद हुआ था। पारस डिफेंस का IPO रिकॉर्डतोड़ सब्सक्राइब हुआ था। इश्यू कुल 304 गुना भरकर बंद हुआ था। रिटेल इनवेस्टर्स के लिए 35% हिस्सा रिजर्व रखा गया था, जो कि 112 गुना भरकर बंद हुआ था। स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट के रिसर्च हेड संतोष मीणा कहते हैं कि जिन लोगों ने निवेश किया हुआ है, उनको बना रहना चाहिए। जबकि कोई निवेश करना चाहता है तो वह गिरावट के समय करे। खासकर जब शेयर 500 रुपए के आस-पास आ जाए। लंबे समय में यह शेयर अच्छा प्रदर्शन करेगा।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *