IMPS से रोज होगा 5 लाख रुपए का ट्रांसफर, RBI ने दरों में नहीं किया बदलाव

मुंबई- रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति कमिटी (MPC) की 3 दिवसीय बैठक खत्म हो गई है। RBI ने रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो रेट 3.35% पर बरकरार रखा है। यह लगातार 8वीं बार है जब दरों को जस का तस रखा गया है। इससे पहले मई 2020 में रेपो रेट को घटाया गया था। इसके अलावा RBI ने इमिडिएट पेमेंट सर्विस (IMPS) लिमिट 2 लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपए कर दी है। 

IMPS की लोकप्रियता काफी तेजी से बढ़ रही है। IMPS को नेशनल पेमेंट सिस्टम कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) की ओर से चलाया जाता है। IMPS से आप 24 घंटे पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इसे आप इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग ऐप, बैंक की शाखाओं, एटीएम, एसएमएस और आईवीआरएस के जरिए कर सकते हैं। इसके जरिए ट्रांसफर किया गया पैसा अगले सेकेंड में दूसरी पार्टी के पास पहुंच जाता है।  

IMPS में आप चाहें तो शेड्यूल पेमेंट भी कर सकते हैं। यानी आपको किसी को आगे की किसी तारीख के लिए पैसा भेजना है तो आप चाहें तो उस तारीख को किसी भी तय समय पर आप पेमेंट चुन सकते हैं। फिर उस दिन उसी समय पर यह पैसा जिसे आप भेजना चाहते हैं आटोमैटिक चला जाएगा।  

दरअसल आरटीजीएस और एनईएफटी से जब आप पैसा ट्रांसफर करते हैं तो इसे दूसरी पार्टी तक जाने में कुछ समय लगता है। कभी यह एक घंटे लेता है तो कभी यह आधे घंटे लेता है। जबकि IMPS में यह आधे सेकेंड भी नहीं लेता है। इसीलिए IMPS का इंस्टैंट ट्रांसफर पेमेंट कहा जाता है।  

अभी तक इसके जरिए 2 लाख रुपए एक दिन में ट्रांसफर करने की सीमा होती थी। यानी आप चाहे 2 लाख एक ही अकाउंट में करें या फिर आप उसे 100 अकाउंट में करें, पर सीमा 2 लाख की ही थी। अब आप 5 लाख रुपए एक दिन में एक अकाउंट में या 100 अकाउंट या फिर 200 अंकाउंट में कर सकते हैं।  

जनवरी 2014 में IMPS की सीमा 2 लाख रुपए की गई थी। अब 5 लाख रुपए के मामले में आरबीआई अलग से एक सर्कुलर जारी करेगा। IMPS से आप रविवार या छुट्‌टी के दिन भी ट्रांसफर कर सकते हैं। कुछ बैंक अभी भी IMPS पर चार्ज लेते हैं जबकि कुछ बैंक इसकी फ्री में सुविधा देते हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *