वारी एनर्जीज आईपीओ से जुटाएगी 1,350 करोड़, सेबी के पास पेपर फाइल

मुंबई- वारी एनर्जीज आईपीओ लाने की तैयारी में है। कंपनी इसके जरिए 1,350 करोड़ रुपए जुटाएगी। कंपनी ने सेबी के पास इस संबंध में पेपर फाइल किया है। यह कंपनी सोलर एनर्जी इंडस्ट्री की बड़ी कंपनी है।  

कंपनी का आईपीओ नए शेयरों के साथ ऑफर फार सेल के भी तहत बिकेगा। इसमें प्रमोटर्स और वर्तमान निवेशक अपनी हिस्सेदारी बेचेंगे। इसमें हितेश दोशी, विरेन दोशी, सुरेंद्र शाह और अन्य अपनी हिस्सेदारी बेचेंगे। फ्रेश इश्यू के जरिए कंपनी को 978 करोड़ रुपए मिलेंगे। इसमें से कंपनी 178 करोड़ रुपए 2 गीगावाट की सोलर सेल को स्थापित करने पर खर्च करेगी।  

31 मार्च 2021 तक कंपनी का रेवेन्यू 1,952 करोड़ रुपए था। एक साल पहले यह 1,995 करोड़ रुपए था। शुद्ध फायदा 48 करोड़ रुपए था जो एक साल पहले 39 करोड़ रुपए था। कंपनी 19 देशों में अपने प्रोडक्ट को बेचती है।  

इसी तरह भारत की सबसे बड़ी कार्डियक स्टेंट बनाने वाली कंपनी सहजानंद मेडिकल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड (SMT) ने IPO के लिए सेबी के पास डॉक्यूमेंट (DRHP) जमा कर दिए हैं। कंपनी की IPO के जरिए 1,500 करोड़ रुपए जुटाने की योजना है। DRHP के मुताबिक IPO में 410.33 करोड़ रुपए के फ्रेश शेयर्स जारी किए जाएंगे। 1,089.67 करोड़ रुपए के शेयर्स ऑफर फॉर सेल के जरिए बेचने की योजना है।  

कंपनी IPO से जुटाए गए फंड में से 255 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाने में इस्तेमाल करेगी। 40.30 करोड़ रुपए का इस्तेमाल वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने में किया जाएगा। कंपनी पर जून 2021 तक कुल 361.35 करोड़ रुपए का कर्ज है। यह लीडिंग मेडिकल डिवाइस बनाने वाली कंपनी है। जो विश्व स्तर पर वैस्कुलर डिवाइस का रिसर्च, डिजाइन, डेवलप और मैन्युफैक्चरिंग करती है। कंपनी की 69 से ज्यादा देशों में प्रत्यक्ष और डिस्ट्रीब्यूटर सेल्स उपस्थिति है। जिसमें जर्मनी, पोलैंड, स्पेन, फ्रांस, यूके और ब्राजील जैसे देश शामिल हैं।  

मार्च 2021 तक इसे भारत में अतिरिक्त 17 पेटेंट और 4 डिजाइन रजिस्ट्रेशन की पाइपलाइन के साथ ग्लोबल स्तर पर 67 पेटेंट दिए गए हैं। कंपनी का फाइनेंशियल ईयर 2020-21 में ऑपरेशन से रेवेन्यू 588.52 करोड़ रुपए रहा, जो एक साल पहले 479.91 करोड़ करोड़ था। समान अवधि में कंपनी का घाटा 25.44 करोड़ रुपए से बढ़कर 72.34 करोड़ रुपए हो गया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *