किशोर बियानी की सैलरी में 44% घटकर 2.17 करोड़ रुपए हुई

मुंबई- कर्ज में डूबी फ्यूचर रिटेल के चेयरमैन किशोर बियानी की सैलरी में भारी गिरावट आई है। एक साल पहले उनकी सैलरी 3.86 करोड़ रुपए सालाना थी। 2020-21 के दौरान उनकी सैलरी 2.17 करोड़ रुपए रही।  

कंपनी की सालाना रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। 2020-21 में बिजनेस गतिविधियों में कोरोना की वजह से निगेटिव असर दिखा है। फ्यूचर रिटेल के मैनेजिंग डायरेक्टर (MD) राकेश बियानी की भी सैलरी में 4.82% की कटौती हुई है। उनकी सैलरी 3.94 करोड़ रुपए से घट कर 3.75 करोड़ रुपए पर आ गई है।  

कंपनी के नॉन एक्जिक्युटिव और इंडिपेंडेंट डायरेक्टर्स ने 2020-21 में एक भी रुपए की सैलरी नहीं ली है। वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनी में स्थाई कर्मचारियों की संख्या 30.1% घट गई है। 31 मार्च 2021 तक कुल 21,839 कर्मचारी फ्यूचर रिटेल में थे। जबकि 31 मार्च 2020 तक इनकी संख्या 31,221 थी।  

2020-21 में फ्यूचर रिटेल का रेवेन्यू 6,304 करोड़ रुपए रहा। एक साल पहले की तुलना में इसमें 69% की गिरावट आई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना की वजह से काफी सारी अनिश्चितताएं दिखी हैं। इससे काफी नुकसान हुआ है। खासकर खपत सेक्टर में इसका बुरा असर दिखा है। फ्यूचर रिटेल बिग बाजार, हाइपरसिटी, इजी डे क्लब और हेरिटेज फ्रेश जैसे स्टोर को चलाता है।  

उधर, रिलायंस रिटेल ने कहा है कि वह फ्यूचर ग्रुप की दूसरी सबसे बड़ी ग्राहक बन गई है। उसकी कुल बिक्री में फ्यूचर कंज्यूमर एक चौथाई का योगदान करती है। 2020-21 में रिलायंस इंडस्ट्रीज की रिटेल इकाई ने फ्यूचर कंज्यूमर से 157.54 करोड़ रुपए का सामान खरीदा था।  

सालाना रिपोर्ट में रिलायंस रिटेल ने कहा है कि उसकी कुल खरीदारी में फ्यूचर कंज्यूमर का योगदान 26.8% रहा। कुल खरीदारी 586.15 करोड़ रुपए की थी। फ्यूचर कंज्यूमर को फ्यूचर एंटरप्राइज में मिला दिया गया था। 29 अगस्त 2020 को रिलायंस ने 24,713 करोड़ रुपए में फ्यूचर इंटरप्राइज को खरीदा था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *