7 कंपनियों का मार्केट कैप पहली बार 5 लाख करोड़ के पार, ICICI बैंक का मार्केट कैप 5 लाख करोड़ के पार

मुंबई- 5 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का मार्केट कैप हासिल करने वाली देश में सात कंपनियां बन गई हैं। ICICI बैंक और एचडीएफसी लिमिटेड गुरुवार को 5 लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा पार कर गईं। इन सातों कंपनियों के पास कुल मार्केट कैप का 61.28 लाख करोड़ रुपए है।  

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (‌‌BSE) का मार्केट कैप गुरुवार को 252.68 लाख करोड़ रुपए हो गया। सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज है। इसका मार्केट कैप 14.54 लाख करोड़ रुपए है। टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस (TCS) दूसरे नंबर पर है। इसका मार्केट कैप 14.19 लाख करोड़ रुपए है। TCS पहली बार 14 लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा पार की है। 

HDFC बैंक तीसरे नंबर पर है। इसका मार्केट कैप 8.79 लाख करोड़ रुपए है। इंफोसिस का मार्केट कैप 7.16 लाख करोड़ रुपए है। मार्केट कैप के लिहाज से पहली बार दो बैंक ऐसे हैं जो 5 लाख करोड़ रुपए के आंकड़े को पार किए हैं। दूसरा बैंक ICICI बैंक है। इसका मार्केट कैप पहली बार गुरुवार को 5.02 लाख करोड़ रुपए हो गया। मार्केट कैप के लिहाज से यह छठें नंबर पर है। 

हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) का मार्केट कैप 6.57 लाख करोड़ रुपए जबकि HDFC लिमिटेड 5.01 लाख करोड़ रुपए के साथ सातवें नंबर पर है। BSE का सेंसेक्स गुरुवार को पहली बार 57,852 अंक पर बंद हुआ। रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 23 सितंबर 2020 को 2,368 रुपए पर था। एक बार फिर से यह उसी लेवल के करीब है। गुरुवार को यह बढ़त के साथ 2,307 रुपए पर बंद हुआ। 

TCS का भी शेयर 1 साल के हाई 3,837 रुपए पर पहली बार बंद हुआ। हिंदुस्तान यूनिलीवर का भी शेयर 1 साल के ऊपरी स्तर 2,799 रुपए पर बंद हुआ। इन सातों कंपनियों के बाद बजाज फाइनेंस, स्टेट बैंक और एयरटेल का नंबर मार्केट कैप के लिहाज से आता है। यह तीनों 3.63 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा के मार्केट कैप वाली कंपनी हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *