IPO से जुटेगा 1.40 लाख करोड़, अब तक 38 कंपनियों ने जुटाए 71 हजार करोड़ रुपए

मुंबई- दिसंबर तक कंपनियां IPO के जरिए 1.40 लाख करोड़ रुपए जुटा सकती हैं। जनवरी से अगस्त तक के 8 महीनों में कंपनियों ने 71 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा जुटाए हैं। इस महीने अब तक कंपनियों ने 18 हजार करोड़ रुपए जुटाए हैं। आने वाले बड़े IPO में पेटीएम सबसे बड़ा होगा। यह कंपनी 16,600 करोड़ रुपए जुटाएगी। आधार हाउसिंग फाइनेंस 7,500 करोड़ रुपए जुटाएगी। गो फर्स्ट 3,600 करोड़ जबकि अदाणी विल्मर 4,500 करोड़ रुपए जुटाएगी। आंकड़े बताते हैं कि सितंबर से अक्टूबर के बीच 30 कंपनियां बाजार में उतर सकती हैं। यह कंपनियां 50 हजार करोड़ रुपए की रकम जुटा सकती हैं। 

कैलेंडर साल खत्म होने के बाद चालू वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही भी गुलजार रहेगी। क्योंकि अंतिम तिमाही में भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) का IPO आएगा। इस IPO की साइज 70-80 हजार करोड़ रुपए हो सकती है। इसे अगर मिला लें तो कुल रकम 2 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा हो जाएगी। तीन कंपनियों के आईपीओ पर सेबी ने फिलहाल रोक लगाई है। इसमें गो फर्स्ट, अडाणी विल्मर और जेमिनी एडिबल ऑयल हैं। रोक इसलिए लगी है क्योंकि इनकी ग्रुप कंपनियों की जांच हो रही है।  

दिवाली के आस-पास जो बड़ी कंपनियां बाजार में उतरेंगी, उनमें एमक्योर फार्मा 4 हजार करोड़ रुपए जुटाएगी। हालांकि उससे पहले सितंबर में भी कुछ इसी तरह का रुझान रहेगा। सितंबर में पॉलिसी बाजार 6 हजार करोड़ रुपए जुटा सकती है। नायका 4 हजार करोड़ तो CMS इंफो 2,000 करोड़ रुपए बाजार से जुटा सकती है। अंतिम तिमाही में ही फ्लिपकार्ट और बायजू भी इश्यू लेकर आ सकती हैं। फिनो पेमेंट्स, ESF स्माल फाइनेंस बैंक, स्टार हेल्थ, आनंद राठी वेल्थ भी सेबी के पास अर्जी फाइल की हैं।  

स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट के रिसर्च हेड संतोष मीणा कहते हैं कि मार्च 2020 से हम इस सेक्टर में एक मजबूत और तेजी का रुझान देख रहे हैं। यह रुझान आगे और भी मजबूत हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि कंपनियां पैसा जुटाने के लिए बाजार की तेजी के अवसर को मिस नहीं करना चाहती हैं।  

मीणा कहते हैं कि पिछले कुछ महीने से कंपनियां नॉन स्टॉप IPO ला रही हैं। जनवरी से अब तक 38 कंपनियां बाजार में उतर चुकी हैं। जबकि आने वाले महीने में हम 30 कंपनियों को बाजार में पैसा जुटाते देख सकते हैं। IPO का मोमेंट सेकेंडरी बाजार की चाल पर निर्भर होगा। यह संभावना है कि सेकेंडरी बाजार की तेजी इस साल में आगे भी बनी रहेगी। हालांकि थोड़ी बहुत गिरावट दिख भी सकती है।  

इस महीने में 25 कंपनियों ने IPO लाने के लिए सेबी के पास अर्जी दी है। पिछले 1 महीने में 32 से ज्यादा कंपनियों ने अर्जी दी है। इन कंपनियों में प्रूडेंट एडवाइजरी सर्विसेस, मेडप्लस हेल्थ, स्टरलाइट पावर, VLCC हेल्थकेयर, गो फैशन, लेटेंट व्यू, सफायर फूड्स, फ्यूजन माइक्रो, जेमिनी एडिबल ऑयल्स आदि हैं। स्टरलाइट 1,250 करोड़ रुपए के लिए, मेड प्लस 1,640 और रेट गेन ट्रैवेल 1,000 करोड़ रुपए के लिए बाजार में उतरेगी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *