नए कारोबारियों को मिलेगी मदद, वित्तमंत्री ने लांच किया उभरते सितारे

मुंबई- नए कारोबारियों को सरकार मदद करेगी। इसी कड़ी में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने उभरते सितारे फंड का उद्घाटन लखनऊ में किया। उन्होंने कहा कि 2020 के बजट में इसका ऐलान किया गया था। लेकिन, कोरोना की वजह से इस महत्वाकांक्षी योजना के लॉन्च में देरी हुई।  

वित्त मंत्री ने उत्तर प्रदेश सरकार से उभरते सितारे के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए जमीनी लेवल पर काम करने की अपील की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले दो साल में एमएसएमई की सहायता के लिए बहुत से कदम उठाए हैं। एमएसएमई की परिभाषा बदली गई है। कोशिश की गई है कि एमएसएमई को कारोबार चलाने के लिए फंड मिलता रहे। उनकी मदद के लिए फैक्टरिंग बिल लाया गया है। इसके जरिए देशभर में 9,000 एनबीएफसी को फैक्टरिंग का अधिकार दिया गया है। इसमें एमसएसई को उनके बिल पर तुरंत पैसा मिलता है।  

वित्त मंत्री ने कहा कि इनके अलावा इमर्जेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम से MSME के लिए जमीनी हालत बेहतर बनाने में मदद मिली है। निर्मला सीतारमण ने कहा कि देश में कारोबार करने में आसानी के लिए सरकार कई उपाय करती आ रही है। इसके तहत एमएसएमई के लिए एक अहम कदम उठाया गया है। उनको अब अपने बही खातों को ऑडिट नहीं कराना होगा। उनका काम सेल्फ सर्टिफिकेशन से चल जाएगा। 

उभरते सितारे फंड देश के क्षमतावान छोटे उद्यमों को विदेशी बाजार में जगह बनाने में मदद के लिए एक्जिम बैंक और सिडबी ने बनाया है। इस प्रोग्राम का मकसद निर्यात कर रही या ऐसा करने में सक्षम छोटी और मझोली कंपनियों की ग्रोथ में आ रही दिक्कतों की पहचान करना और उन्हें दूर करने के उपाय करना है। यह फंड 10 साल का है और इसमें सिडबी और एक्जिम बैंक, दोनों एंकर इनवेस्टरों ने 40-40 करोड़ रुपए लगाए हैं। इसके लिए एक्जिम बैंक और सिडबी की देश के बहुत बैंकों और वित्तीय संस्थाओं से बातचीत चल रही है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.