ओयो दिसंबर में ला सकती है आईपीओ, अगले महीने फाइल कर सकती है कागजात

मुंबई-ओयो होटल्स एंड होम्स कंपनी सितंबर में सेबी के पास ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोसपेक्टस (DRHP) फाइल कर सकती है। कंपनी दिसंबर से पहले आईपीओ लाने की योजना बना रही है।  

कंपनी अपने IPO की प्लान ऐसे समय में बना रही है, जब भारत का IPO बाजार इस समय जबरदस्त तेजी में है। इस समय स्टार्टअप भी IPO से अच्छा पैसा जुटा रहे हैं। पेटीएम, नायका, मोबिक्विक और पॉलिसीबाजार जैसे स्टार्टअप बाजार में आने वाले हैं। कारट्रेड का इश्यू पिछले हफ्ते ही बंद हुआ है।  

इस समय ओयो का 43% रेवेन्यू भारत और दक्षिण पूर्व एशिया से आता है। 28% रेवेन्यू यूरोप से आता है। बाकी का रेवेन्यू अन्य देशों से आता है। कोरोना की वजह से इसने चीन और अमेरिका में अपने ऑपरेशन में काफी कटौती की थी। 

ओयो ने 80 देशों में 43 हजार होटल्स के साथ टाईअप किया है। इसके अलावा 1.50 लाख वैकेशन होम्स हैं। इसमें भारत, चीन, मलेशिया, थाईलैंड, इंडोनेशिया और नेपाल जैसे देश हैं। इस साल में IPO से कंपनियों ने 65 हजार करोड़ रुपए अब तक जुटाई हैं। 

कंपनी की योजना इसी कैलेंडर साल यानी दिसंबर से पहले स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होने की है। दिवाली के ही आस-पास पेटीएम भी अब तक का सबसे बड़ा IPO लाने की योजना बना रही है। उसने पहले ही सेबी के पास अर्जी जमा कर दी है। इसके लिए मर्चेंट बैंकर्स के साथ बात कर रही है। इन मर्चेंट बैंकर्स में जेपी मोर्गन, सिटी और कोटक महिंद्रा कैपिटल हैं, जो ओयो के IPO का प्रबंधन करेंगे।  

कंपनी 10 हजार करोड़ रुपए तक IPO से जुटा सकती है। ओयो को कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिजनेस में सुधार दिख रहा है। हालांकि कोरोना की पहली लहर में कंपनी का बिजनेस पूरी तरह से ठप हो गया था। ऐसा इसलिए क्योंकि लॉकडाउन की वजह से लोगों की आवाजही ठप हो गई थी। कंपनी भारत और यूरोप में अपने बिजनेस में सुधार तेजी से देख रही है। इन दोनों देशों में कोरोना के मामले कम हो रहे हैं और वैक्सीनेशन रेट में तेजी आ रही है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *