देश के टॉप 6 शहरों में 5 लाख करोड़ रुपए के घरों अटके, मुंबई, दिल्ली टॉप पर

मुंबई- देश में 5.5 लाख करोड़ रुपए के घर अटक गए हैं। टॉप 6 शहरों में 1.40 लाख करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट रुक गए हैं। जबकि 3.64 लाख करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट में देरी हो गई है।  

आंकड़े बताते हैं कि सबसे ज्यादा प्रोजेक्ट राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में रुके हैं। यहां पर 1 लाख 13 हजार 860 घर फंसे हैं। इनकी कुल वैल्यू 86 हजार 463 करोड़ रुपए है। NCR में रुके हुए प्रोजेक्ट में से 50% घर मिड सेगमेंट के हैं। 24% अफोर्डेबल सेगमेंट के हैं। 20% प्रीमियम सेगमेंट के हैं। 6% प्रोजेक्ट लग्जरी सेगमेंट के फंसे हैं। मुंबई और इसके आस-पास में कुल 41,720 घर अटके हैं। इनकी वैल्यू 42,417 करोड़ रुपए है। इसमें 37% घर लग्जरी सेगमेंट के हैं। 22% अफोर्डेबल सेगमेंट के हैं। 21% प्रीमियम और 20% मिड सेगमेंट के हैं।  

पुणे में 5,854 करोड़ रुपए की 9,990 यूनिट अटकी है। इसमें 52% घर मिड सेगमेंट के जबकि 26% अफोर्डेबल सेगमेंट के घर हैं। 15% प्रीमियम सेगमेंट के और 7% लग्जरी सेगमेंट के हैं। हैदराबाद में 2,727 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट हैं। यहां 4,150 घर फंसे हैं। इसमें 55% घर मिड सेगमेंट के हैं जबकि 28% प्रीमियम सेगमेंट के, 9% लग्जरी के और 8% अफोर्डेबल सेगमेंट के हैं।  

NCR में 1.63 लाख करोड़ रुपए के 2.14 लाख घरों में देरी आई है। मुंबई और इसके आस-पास में 1.09 लाख करोड़ रुपए के 1.07 लाख घरों में देरी हुई है। बंगलुरू में 30 हजार करोड़ रुपए के 37,910 घरों में देरी हुई है। पुणे में 40 हजार घरों के बनने में देरी हुई है। इनकी कुल वैल्यू 23,536 करोड़ रुपए है। जबकि कोलकाता में 28,960 घरों में देरी हुई है। इनकी वैल्यू 17,869 करोड़ रुपए है। हैदराबाद में 13,810 घर हैं जिनमें देरी हुई है। इनकी वैल्यू 9,083 करोड़ रुपए है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.