जून तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज को 12,273 करोड़ रुपए का हुआ फायदा

मुंबई- देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज को जून तिमाही में 12,273 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। यह एक साल पहले जून 2020 की तुलना में करीबन 14 पर्सेंट ज्यादा है। जून 2020 में कंपनी को 13,248 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। 

कंपनी ने बाजार बंद होने के बाद रिजल्ट जारी किया है। इसके शेयरों पर रिजल्ट का असर सोमवार को दिखेगा। रिजल्ट से पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर आज गिरावट के साथ बंद हुआ था। मार्च तिमाही का भी रिजल्ट शुक्रवार की शाम को ही जारी किया गया था। अगर केवल अकेले रिलायंस इंडस्ट्रीज की बात करें तो कुल सेल्स तिमाही के दौरान 94,803 करोड़ रुपए रही है। इस दौरान कैश प्रॉफिट 10,905 करोड़ रुपए की रही है। इस दौरान कंपनी ने 56,156 करोड़ रुपए का निर्यात किया है जो पिछले साल जून तिमाही की तुलना में 71.8 पर्सेंट ज्यादा है।  

इसके डिजिटल प्लेटफॉर्म जियो का तिमाही में कुल रेवेन्यू 22,267 करोड़ रुपए रहा है जबकि शुद्ध फायदा 3,651 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले की तुलना में फायदा में 45 पर्सेंट की ग्रोथ रही है। कुल ग्राहकों की संख्या 44 करोड़ रही है। इसने तिमाही के दौरान 4.23 करोड़ ग्राहक जोड़े हैं। प्रति ग्राहक कमाई 138.4 रुपए रही है।  रिटेल सेगमेंट का रेवेन्यू 38,547 करोड़ रुपए रहा है। जबकि फायदा 962 करोड़ रुपए रहा है। यह एक साल पहले की तुलना में 123 पर्सेंट ज्यादा रहा है। तिमाही के दौरान कंपनी ने 123 नए स्टोर खोले और कुल स्टोर की संख्या 12,803 हो गई।  

कंपनी ने बताया कि ऑयल टू केमिकल सेगमेंट का कुल रेवेन्यू जून तिमाही में 103,212 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले यह 58,906 करोड़ रुपए था। इसमें 75 पर्सेंट की बढ़त रही है। वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनी को 53,729 करोड़ रुपए का रिकॉर्ड फायदा हुआ है। एक साल पहले के लाभ की तुलना में यह 34.8% ज्यादा था। कंपनी ने 7 रुपए प्रति शेयर लाभांश यानी डिविडेंड देने की घोषणा की थी। डिविडेंड मतलब अपने फायदे में से निवेशकों को गिफ्ट के रूप में कुछ हिस्सा देने से होता है। पूरे साल के दौरान 5.39 लाख करोड़ रुपए इसका रेवेन्यू रहा था। 

चौथी तिमाही की बात करें तो रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्रुप का कुल रेवेन्यू 1 लाख 72 हजार 95 करोड़ रुपए था, जो एक साल पहले जनवरी-मार्च की तुलना में 24.9% ज्यादा रहा। शुद्ध फायदा 14,995 करोड़ रुपए रहा, जो एक साल पहले हुए 6,348 करोड़ की तुलना में 129% ज्यादा रहा था। केवल रिलायंस इंडस्ट्रीज की बात करें तो उसका रेवेन्यू 90 हजार 792 करोड़ रुपए रहा है, जिसमें 27.1% की बढ़त रही है। शुद्ध लाभ 7,617 करोड़ रुपए रहा है, जो 11.7% कम है। 

उधर, ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस जेफरीज का अनुमान है कि यह शेयर 50% यहां से बढ़ सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि कंपनी ऑयल केमिकल बिजनेस में हिस्सेदारी बेचने में सफल हो सकती है। साथ ही आने वाले दिनों में रिलायंस जियो की लिस्टिंग भी अनाउंस हो सकती है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *