एचडीएफसी लाइफ का नया बिज़नेस प्रीमियम 44 प्रतिशत बढ़कर 3,767 करोड़ रूपए

मुंबई– मूल्य के लिहाज़ से भारत की सबसे बड़ी निजी जीवन बीमा कंपनी एचडीएफसी लाइफ ने अप्रैल से जून 2021 की तिमाही के वित्तीय परिणाम की घोषणा की। 30 जून, 2021 को समाप्त पहली तिमाही में नया बिजनेस प्रीमियम 44 प्रतिशत बढ़कर 3,767 करोड़ रुपए हो गया। पिछले साल की इसी अवधि में यह 2,623 करोड़ रूपए था।  

कंपनी ने बताया कि 30 जून, 2021 को समाप्त अवधि के दौरान रिन्यूअल प्रीमियम बढ़कर 3,889 करोड़ रूपए हो गया, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 3,239 करोड़ था। एचडीएफसी लाइफ निजी क्षेत्र में कुल नए बिजनेस प्रीमियम के मामले में पहले स्थान पर है। इसकी बाजार हिस्सेदारी 160 बीपीएस बढ़कर 20.7 प्रतिशत से 22.3 प्रतिशत हो गई है। एचडीएफसी लाइफ की ग्रुप और व्यक्तिगत नए बिज़नेस खंड में हिस्सेदारी क्रमशः 25.9 प्रतिशत और 17.8 प्रतिशत रही। 

पिछले वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही के मुकाबले एचडीएफसी लाइफ का रिन्यूअल संग्रह बढ़ा है। एचडीएफसी लाइफ की प्रबंध निदेशक विभा पडलकर ने कहा, “महामारी ने दुनिया भर में जीवन को प्रभावित किया है। अधिकांश कंपनियों के लिए यह निरंतर विकसित होने वाली स्थिति से मुकाबले के लिए लचीलेपन और तेज़ी की परीक्षा रही है। देश की अग्रणी जीवन बीमा कंपनी के रूप में, हम इस कठिन समय में अपने ग्राहकों की मदद और अपने कर्मचारियों तथा अन्य सम्बद्ध पक्षों की ज़रुरत में साथ खड़े होने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 

पडलकर ने कहा कि पिछली तिमाही में, मृत्यु के दावों में भारी वृद्धि दर्ज़ हुई पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर के दौरान पीक अवधि में दावे में 3-4 गुना बढ़ोतरी हुई। हमने पहली तिमाही में 70,000 से अधिक दावों का भुगतान किया। सकल और शुद्ध दावे के भुगतान के क्रमशः 1,598 करोड़ रूपये और 956 करोड़ रूपये अदा किये गए। मौजूदा दावों के अनुभव के आधार पर, हमने 700 करोड़ रूपये के अतिरिक्त रिजर्व की व्यस्था की है ताकि संभावित दावों का भुगतान किया जा सके।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *