पेटीएम 2 हजार करोड़ रुपए जुटाएगी, 9 लोगों की टीम प्रमुख मैनेजमेंट में होगी

मुंबई– पेटीएम IPO से पहले 2 हजार करोड़ रुपए जुटाने की तैयारी कर रही है। यह पैसा वह संस्थागत निवेशकों को शेयर जारी कर जुटाएगी। कंपनी IPO में 16,600 करोड़ रुपए जुटाने की योजना बना रही है।  

खबर है कि कंपनी IPO के लिए अगले कुछ दिनों में सेबी के पास मसौदा जमा कराएगी। इसमें वह 9 लोगों को प्रमुख पदों के रूप में घोषित करेगी। पेटीएम के शेयरधारकों ने सोमवार को इसके 16,600 करोड रुपए के IPO को मंजूरी दे दी थी। इसमें से 12 हजार करोड रुपए की रकम नए शेयर जारी कर जुटाई जाएगी। फिलहाल कंपनी में जो निवेशक हैं उसमें सॉफ्टबैक और एंट ग्रुप के पास विकल्प है कि वे 8,300 करोड़ रुपए के और शेयर बेच सकते हैं। 

शेयरधारकों ने पेटीएम को प्रमोटर के नेतृत्व वाली कंपनी के रूप में भी रिजोल्यूशन को मंजूरी दे दी है। इसके लिए विजय शेखर शर्मा को प्रमोटर बनाया गया है। वे कंपनी के चेयरमैन, MD और CEO भी रहेंगे। वे IPO पर फैसला लेने के लिए अधिकृत होंगे। इस तरह से यदि कोई कंपनी पेशेवर तरीके से मैनेज होती है तो उसमें शेयर धारकों के लिए कोई विशेष अधिकार नहीं होता है 

जानकारी के मुताबिक, जिन 9 लोगों को कंपनी के प्रमुख के रूप में चुना गया है, उनका नाम सेबी के पास जमा होने वाले ड्राफ्ट रेड हियरिंग प्रोसपेक्टस (DRHP) में होगा। इसमें प्रेसीडेंट मधुर देवरा, मुख्य वित्तीय अधिकारी विकास गर्ग, रेणु सत्ती, भावेश गुप्ता, प्रवीन शर्मा, हरिंदरपाल सिंह, सुधांशु गुप्ता, मनमीत धोड़ी और दीपांकर होंगे। इनके अलावा तीन और लोग भी होंगे। इसमें पेमेंट बैंक के CEO, पेटीएम मनी के सीईो और इसके जनरल इंश्योरेंस के अधिकारी होंगे।  

IPO से पहले कंपनी ने काफी बदलाव बोर्ड में और अन्य नियमों में किया है। इसमें बोर्ड से चीन के अधिकारियों को हटा दिया गया है। पिछले हफ्ते कंपनी ने 5.1 लाख शेयरों को 80 कर्मचारियों को दे दिया। यह 1 रुपए के मूल्य पर दिया गया है। इस पर 8 रुपए की सिक्योरिटी है। हालांकि इम्प्लॉयी स्टॉक ऑप्शन (इसॉप) के तहत भी शेयर दिए गए हैं।  

इसका वैल्यूएशन 1.85 लाख करोड़ रुपए के करीब माना जा रहा है। कंपनी पहले चरण में कम पैसा जुटा सकती है और बाद में बाकी पैसा जुटा सकती है। पेटीएम ने इसके लिए जेपी मोर्गन, मोर्गन स्टेनली, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, गोल्डमैन, एक्सिस कैपिटल, सिटी और एचडीएफसी बैंक को बैंकर्स के रूप में नियुक्त किया है।  

पेटीएम की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021 में इसका रेवेन्यू 2,802 करोड़ रुपए रहा है। पेटीएम की मालिक वन97 कम्युनिकेशन ने यह जानकारी सालाना रिपोर्ट में दी है। कंपनी ने कहा है कि उसका घाटा इसी दौरान 1,701 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले यह 2,942 करोड़ रुपए था। यानी इसमें 42% की कमी आई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *