50 करोड़ का मालिक है आईपीएस अधिकारी, 8 महीने से फरार, 1 लाख का इनाम

मुंबई– महोबा के क्रशर कारोबारी की मौत के मामले में भगोड़े IPS मणिलाल पाटीदार की करीबन 50-60 करोड़ की संपत्तियों को कुर्क करने की तैयारी हो गई है। पाटीदार पर एक लाख का इनाम घोषित है। वे बीते 8 माह से फरार चल रहे हैं।  

मूलतः राजस्थान के डूंगरपुर के रहने वाले मणिलाल पाटीदार साल 2014 बैच के IPS अफसर हैं। लखनऊ स्थित भ्रष्टाचार निवारण की अदालत ने मणिलाल पाटीदार के खिलाफ वारंट जारी कर रखा है। उसकी गिरफ्तारी के लिए आईजी रेंज के स्तर से एसआईटी तक गठित है। 

फरार होने के बाद प्रयागराज पुलिस उनकी नामी और बेनामी संपत्तियों को खंगालना शुरू कर दिया है। अब तक की खोजबीन में पता चला है कि मणिलाल पाटीदार ने राजस्थान में अपने पिता राम जी पाटीदार के नाम और फ्लैट खरीदा है। इसके अलावा दुकान, मकान समेत तीन अन्य संपत्तियों का भी पता चला है। मणिलाल पाटीदार की कुल 5 संपत्तियों को चिह्नित किया जा चुका है, जो राजस्थान में हैं। इनकी बाजार के मुताबिक कीमत तकरीबन 50-60 करोड़ के आसपास है।  

इसके बाद महोबा जिले से तीन और प्रयागराज जिले से दो टीमों को भगोड़े आईपीएस की गिरफ्तारी के लिए लगाया गया है। इसमें एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) की भी टीम शामिल है। पांच- पांच टीमों लगी होने के बावजूद अभी फरार आईपीएस का सुराग नहीं लगा है। राजस्थान तक मणिलाल पाटीदार को खोज कर लौट चुकी एसटीएफ के हाथों तहसील और राजस्व अधिकारियों के जरिए उसकी संपत्तियों के बारे में जरूर पता चल गया है। 

दरअसल, क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी को 8 सितंबर 2020 को संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगी थी। करीब 5 दिन तक कानपुर के एक अस्पताल में इलाज के बाद उनकी 13 सितंबर 2020 को मौत हो गई। इससे पूर्व 7 2020 सितंबर को इंद्रकांत ने एक वीडियो जारी कर पाटीदार पर संगीन आरोप लगाते हुए खुद की हत्या की आशंका जताई थी। आरोप लगाया था कि पाटीदार ने कारोबार करने के लिए 6 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। न देने पर हत्या कराने या जेल भेजने की धमकी दी थी। इंद्रकांत की मौत के बाद उनके भाई रविकांत ने महोबा के पूर्व SP मणिलाल पाटीदार, कबरई थाने के तत्कालीन इंस्पेक्टर देवेंद्र व कांस्टेबल अरुण और दो अन्य के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *