ICICI प्रूडेंशियल का फ्लैक्सी कैप NFO 28 जून को खुलेगा, 12 जुलाई को बंद होगा

मुंबई- देश की लीडिंग म्यूचुअल फंड कंपनी ICICI प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड ने नया फंड ऑफर (NFO) लांच करने की घोषणा की है। यह नया फंड 28 जून को खुलेगा और 12 जुलाई को बंद होगा। यह फ्लैक्सीकैप फंड होगा। 

इक्विटी म्यूचुअल फंड यूनिवर्स में फ्लैक्सीकैप दूसरी सबसे बड़ी कैटेगरी के रूप में उभरा है। यह फंड लगातार निवेशकों के हितों को आकर्षित करने में सफल रहा है। यह सबसे बेहतरीन फ्लैक्सिबल कैटेगरीज है। ऐसा इसलिए क्योंकि फंड मैनेजर्स के पास यह आजादी होती है कि वह लॉर्ज, मिड और स्मॉल कैप शेयरों में बिना किसी रोक के निवेश करे। 

ICICI प्रूडेंशियल फ्लैक्सीकैप फंड इन-हाउस मार्केट कैप अलोकेशन मॉडल को अपनाता है। यह सभी मार्केट कैपिटलाइजेशन में निवेश करता है। इन-हाउस मॉडल के अलावा यह फंड मैक्रो इकोनॉमिक फैक्टर्स और बिजनेस साइकल पर आधारित होता है। इसके पास फ्लैक्सिबिलिटी का पूरा एक मेल-जोल होता है। यह फंड लॉर्ज, मिड और स्मॉल कैप सेक्टर में अवसर की पहचान करता है। शेयरों का चयन कई पैमाने पर होता है। इसमें कंपनी का फंडामेंटल्स, वैल्यूएशन और अन्य पैमाना होता है। 

ICICI के मुख्य निवेश अधिकारी एस. नरेन का मानना है कि भारत इकोनॉमिक साइकल की रिकवरी के शुरुआती चरण में है। ऐतिहासिक रूप से रिकवरी के चरण में ऐसी कंपनियां मजबूत बनकर उभरने में सक्षम होती हैं और इनकी बाजार हिस्सेदारी बढ़ती है। उनका मानना है कि आगे चलकर इन कंपनियों के फायदे में सुधार हो सकता है। यह कंपनियां लागत पर नियंत्रण रखती हैं क्योंकि ये अपने प्रोसेस और सिस्टम में टेक्नोलॉजी का उपयोग करती हैं। 

एस. नरेन का मानना है कि कंपनियों की अर्निंग ग्रोथ संभावित रूप से बाजार के लिए आगे प्रमुख ड्राइवर के रूप में उभरेंगी। वैल्यूएशन महंगा होने के बावजूद यह संभावित है कि बाजार आगे भी कोरोना के माहौल में रिसाइलेंट रह सकता है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि बाजार में निवेश बनाए रखें। हालांकि इन सभी के बावजूद निकट समय में बाजार में उतार-चढ़ाव जारी रह सकता है। 

चूंकि फ्लैक्सीकैप फंड तीनों कैप यानी लॉर्ज, मिड और स्मॉल कैप में निवेश करता है, इसलिए बाजार के उतार-चढ़ाव के समय में लॉर्ज कैप में कम गिरावट रहती है और ये पोर्टफोलियो को लिक्विडिटी दे सकते हैं। दूसरी ओर, लॉकडाउन के बाद इकोनॉमिक रिकवरी की भी उम्मीद है। ऐसे में मिड कैप और स्मॉल कैप बेहतर पोजीशन में होंगे जो संभावित रूप से ऊपर की ओर जा सकते हैं। 

शुरुआती चरण में इस फंड के लिए मार्केट कैप अलोकेशन में लॉर्ज कैप में 50-100% हो सकता है। मिड और स्मॉल कैप में यह शून्य से 50% निवेश कर सकता है। इन-हाउस मॉडल से पता चलता है कि करीबन 80% निवेश लॉर्ज कैप में होता है। फ्लैक्सीकैप का पोर्टफोलियो डाइवर्सिफाइ यानी कई सेक्टर और शेयरों में होता है। इसलिए इसमें जोखिम कम होता है। फ्लैक्सीकैप स्कीम सभी बाजार साइकल में अच्छा प्रदर्शन करती है। इस स्कीम में कम से कम 5 हजार रुपए का निवेश कर सकते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *