घर से काम करने के लिए फिर कंपनियों ने बंद किया ऑफिस, अगले 6 महीने तक ऑफिस खुलने की उम्मीद कम

मुंबई– कोरोना की दूसरी लहर में कंपनियां फिर ‘वर्क फ्रॉम होम’ पर आ गई हैं। दिल्ली, मुंबई, बंगलुरू सहित बड़े शहरों में फिर से ऑफिसेज बंद होने लगे हैं। IT, फार्मा, ब्रोकिंग जैसे सेक्टर्स में कर्मचारियों को घर से ही काम करने को बोल दिया गया है। 

मुंबई में सिप्ला में एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, पिछले हफ्ते ही कंपनी ने सभी को घर से काम करने के लिए कह दिया है। सिप्ला के कर्मचारी ने बताया कि जिस तरह के हालात बने हैं, ऐसे में कंपनी ने काफी पहले फैसला कर लिया था और अब पिछले हफ्ते से हम घर से काम कर रहे हैं। किसी शहर में भी रहें हमारे लिए अब ‘वर्क फ्रॉम होम’ है। 

निजी सेक्टर की ज्यादातर कंपनियां ‘वर्क फ्रॉम होम’ मोड में चली गई हैं । हालांकि बीमा, बैंकिंग जैसे सेक्टर्स की सरकारी कंपनियों ने ऑफिसेज चालू रखे हैं। कोरोना की दूसरी लहर में मुंबई, दिल्ली, जयपुर, बंगलुरू, अहमदाबाद सहित प्रमुख शहरों में नाइट-कर्फ्यू के साथ लॉकडाउन है। 

भारत में फिलहाल रोजाना 2.90 लाख से ज्यादा कोरोना के मामले आ रहे हैं। रोजाना करीबन 1600 लोगों की मौत हो रही है। इस वजह से जिन शहरों में लॉकडाउन नहीं भी है, वहां भी कंपनियां कोई जोखिम नहीं लेना चाहती हैं। वे भी घर से काम करने को आजादी दी हैं। सूत्रों के मुताबिक, बड़ी-बड़ी आईटी कंपनियां टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस, आईटीसी, आईबीएम, रेमंड, मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल, डेलॉइट, आरपीजी इंटरप्राइजेज जैसी कंपनियां ने कर्मचारियों को घर से काम करने को कह दिया है। 

ब्रिटेन ने जहां भारत के नागरिकों के प्रवेश पर रोक लगा दी है, वहीं अमेरिका ने भी अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है। अमेरिका ने कहा है कि भारत की यात्रा करने से बचें, यहां तक कि अगर आपने वैक्सीन ले भी ली है तो भी यात्रा न करें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *