मुंबई के अस्पतालों में अब बेड मिलना मुश्किल, बीएमसी ने कहा पसंद वाले अस्पताल न तलाशें

मुंबई– देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में कोरोना वायरस से हालात इस कदर बेकाबू हो गए हैं कि लोगों को अब अस्पतालों में बेड मिलना मुश्किल हो चुका है। बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने लोगों से अपील की है कि वे अपनी पसंद के अनुसार अस्पताल में भर्ती होने की प्रतीक्षा न करें। दरअसल, BMC का यह बयान तब आया है जब दहिसर में एक व्यक्ति अपनी पत्नी को अस्पताल में भर्ती करवाने के लिए लेकर आया, लेकिन उसे यहां ICU बेड नहीं मिल पाया। 

मरीज के परिजनों ने बताया कि उन्हें फोन पर कहा गया था कि यहां बेड उपलब्ध है, लेकिन यहां आने पर एक घंटे से ज्यादा का समय गुजर चुका है लेकिन अस्पताल की तरफ से बेड नहीं मिल पाया है और कोई इस बारे में जानकारी भी देने की जहमत नहीं उठा रहा है। ऐसा लगता है, जैसे मरीजों को राम भरोसे छोड़ दिया गया है।  

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब BMC और प्राइवेट अस्पताल अपने नजदीक के फोर और फाइव स्टार होटलों में भी कोरोना मरीजों के लिए कमरे बुक करेंगे ताकि हलके लक्षण वाले मरीजों को अस्पताल से निकालकर होटल में शिफ्ट किया जा सके और गंभीर मरीजों को अस्पताल में जगह मिल सके। BMC ने इसे स्टेप डाउन फैसिलिटी का नाम दिया है। 

बता दें कि कोरोना वायरस  के कारण स्थिति बेहद चिंताजनक बनी हुई है। 24 घंटे में राज्‍य में 60,952 मामले सामने आ चुके हैं। इसके साथ ही 278 लोगों की मौत हुई है। राज्य में अब तक कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 6 लाख 12 हजार तक पहुंच चुकी है। 

मुंबई में भी कोरोना के 9,931 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 54 लोगों की मौत दर्ज की गई है। वहीं शहर में अब तक कोरोना के कुल मामले 5,45,195 हो चुके हैं जबकि मुंबई शहर में मौतों का कुल आंकड़ा 12, 147 है। मुंबई में कोरोना मरीज बेहद तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में शहर के अस्‍पतालों में बेड की कमी हो रही है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.