देश की पहली स्टार्टअप कंपनी अमेरिकी शेयर बाजार में होगी लिस्ट

मुंबई– देश की पहली स्टार्टअप कंपनी अमेरिकी शेयर बाजार में लिस्ट होने की तैयारी कर रही है। खबर है कि इनमोबी (InMobi Pte) इस साल के अंत तक IPO ला सकती है। इसके जरिए कंपनी 12 से 15 अरब डॉलर की रकम जुटाने की योजना बना रही है। 

वेंचर फंडिंग के साथ यूनिकॉर्न स्टेटस तक पहुंचने वाली भारत की यह पहली निजी कंपनी अपनी आईपीओ प्रक्रिया को कुछ हफ्तों में स्टार्ट कर सकती है। कंपनी का बोर्ड लिस्टिंग पर विचार करने के लिए जल्द ही मीटिंग कर सकता है। फिलहाल यह 1 अरब डॉलर वाली कंपनी है। अगर यह आईपीओ सफल रहता है तो यह भारत की पहली स्टार्ट अप कंपनी बन जाएगी जो अमेरिकी शेयर बाजार में सीधे लिस्ट होगी। 

इनमोबी के सबसे बड़े समर्थक सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प के लिए यह एक चौंकाने वाला आईपीओ होगा। सॉफ्टबैंक कंपनी के 40 % हिस्से का मालिक है। इनमोबी की लिस्टिंग पर काम करने के लिए जेपी मॉर्गन चेस एंड कंपनी, गोल्डमैन सैक्स ग्रुप इंक और सिटीग्रुप इंक जैसे बैंक हैं। मौजूदा महामारी इनमोबी सहित विज्ञापन-टेक्नोलॉजी कंपनियों के लिए वरदान साबित हुई है। क्योंकि इससे गेमिंग, वीडियो स्ट्रीमिंग और शॉपिंग में मोबाइल में तेजी से बदलाव हुआ है। विज्ञापनदाताओं ने इसका तेजी से फायदा उठाया है।

इनमोबी चीन, अमेरिका, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया और भारत सहित बाजारों में अपने कारोबार करती है। यह ग्राहकों के फोन के लिए टार्गेटेड विज्ञापन (targeted advertising) देने के लिए एल्गोरिदम का उपयोग करती है। कंपनी विज्ञापनदाताओं को विज्ञापन बनाने और साइट ट्रैफ़िक से कमाई करने में भी मदद करती है, जो कैंपेन परफॉर्मेंस पर रियल समय की रिपोर्ट प्रदान करती है। 

हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के छात्र रहे नवीन तिवारी (43) ने इस कंपनी की शुरुआत की थी। उन्होंने अपने इंजीनियरिंग और बिजनेस स्कूल के साथियों के साथ 2007 में मिलकर इनमोबी की स्थापना की। इनमोबी 2011 में भारत की पहली स्टार्ट अप बन गई थी। इसके बाद से दर्जनों अन्य भारतीय टेक स्टार्टअप्स का वैल्यूएशन 1 अरब डॉलर तक पहुंच गया है। कहा जा रहा है कि इनमें से वॉलमार्ट इंक के स्वामित्व वाली ऑनलाइन रिटेलर फ्लिपकार्ट ऑनलाइन सर्विसेज प्राइवेट और फूड डिलिवरी स्टार्टअप जोमैटो प्राइवेट लिमिटेड सहित कई को भारत या अमेरिका में लिस्टिंग की योजना बना रही हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.